नागपुर में चल रहा था मौत का नाटक और चली गयी युवक की जान

महाराष्ट्र के नागपुर जिले में युवक को मौत का नाटक करने की किमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। युवक हज़ारों लोगों के बीच चौराहे पर किसान खुदखुशी का नाटक कर रहा था। तभी अचानक उसके गले में फांसी का फंदा फंस गया और युवक की मौत हो गयी फंदे पर लटका युवक तड़पता रहा वहां पर मौजूद लोग इसे बस एक नाटक समझकर युवक के साथ सेल्फी लेने में मग्न रहे। जब असलियत सामने आयी तब लोगों की आँखे फटी की फटी रह गयी।

नागपुर जिले के रामटेक में बैकुंठ के अवसर पर हर साल की तरह इस बार सोभा यात्रा निकाली गयी थी। इस यात्रा में हर बार किसी ना किसी की झांकी बनायीं जाती थी। इस बार सोभा यात्रा में किसान ख़ुदकुशी की झांकी तैयार की गयी थी। मृतक युवक कलाकार मनोज धुर्वे 27 किसान ख़ुदकुशी की एक्टिंग कर रहा था। युवक ने ट्रेक्टर के सहारे एक हल खड़ा कर फांसी का फंदा तैयार किया। और फंदे को अपने गले में डाल लिया। फंदा गले में डालते ही युवक को ट्रेक्टर का झटका लगा और फंदा युवक के गले में फंस गया। देखते ही देखते युवक को सांस लेना मुश्किल हो गया और तड़पने लगा। वहां पर मौजूद लोगों को लगा की मनोज नाटक कर रहा है। नाटक समझकर युवक को कोई बचाने तक नहीं आया और उसकी जान चली गयी।

लोगों के सामने जब इसकी असलियत आयी सभी की आँखे फटी की फटी रह गयी। सोभा यात्रा ख़त्म हुई लोग फंदे से लटके मनोज के पास पहुंचे। देखा की मनोज की साँसे थम गयी है। लगों ने उसे आनन फानन में फंदे से निचे उतार पास के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

राम टेक पुलिस ने एक्सीडेंटल डेथ का मामला दर्ज कर युवक की लाश को परिजनों के हाथ सौप दिया है। मनोज के दोस्तों ने पुलिस को बताया कि मनोज  मुख्य कलाकार नहीं था। फिर भी उसे शोभा यात्रा के अवसर पर कुछ न कुछ करना अच्छा लगता था। मनोज ने किसानों के प्रश्न और हालात काफी करीब से देखे थे और इसमें जान डालने की उसने पूरी कोशिश की थी।

 


Close Bitnami banner
Bitnami