नशे में पुलिस वाला कर रहा था ड्यूटी,मरते मरते बचे कई लोग

मुंबई के उपनगरीय इलाके कांदिवली में एक बड़ा हादसा होते होते टल गया। मुंबई पुलिस का एक जवान नशे में टुन्न हो कर ड्यूटी कर रहा था। अचानक पैट्रोलिंग के दौरान उसका पैट्रोलिंग जीप से नियंत्रण खो गया और वो सीधे गाडी लेकर भीड़ भाड़ वाले इलाके में जा घुसा। अपनी तरफ तेज़ रफ़्तार गाडी को आते देख लोग किसी तरह जान बचा कर भागे। लेकिन घटना के बाद वहां मौजूद भीड़ ने गाडी को घेर लिया। जब जांच किया गया तो सामने आया की ड्यूटी कर रहे पुलिस वाले नशे की हालत में थे। वो इतने बेसुध थे की मौके पर पहुंचे अपने ही थाने के अधिकारी तक को नहीं पहचान पा रहे थे। अब मामला सामने आने के बाद इलाके के एडिशनल कमिश्नर राजेश प्रधान ने आरोपी पुलिस वाले के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच के आदेश के दे दिए।

जानकारी के मुताबिक वारदात , मुंबई के कांदीवली ईस्ट के साईधाम मंदिर के पास की है। दशहरा की वजह से वेस्टेन एक्सप्रेस हाईवे के फ्लाईओवर से इस मंदिर में कल रात काफी भीड़ थी। मंदिर के बाहर लोग भजन कीर्तन में थे। तभी उनकी नज़र दूर से तेज़ रफ़्तार से आ रही मुंबई पुलिस की एक पैट्रोलिंग वैन पर पड़ी। उन्हें अंदेशा हो गया था की गाडी पर ड्राइवर का नियंत्रण नहीं रहा है। मौका पाते ही वहां लोग यहाँ वहां भागने लगे, अचानक भगदड़ का माहौल हो गया। तब तक गाडी कई कुर्सियों और बैरिकेट को तोड़ते हुए एक  दीवार से जा टकराई। पहले तो लोग समझ नहीं पाए की आखिर ऐसा क्या हुआ की गाडी उनके बीच जा घुसी। जब पास जाकर देखा तो उस कार में दो पुलिस वाले सवार थे। गाडी एक हवलदार चला रहा था जो पूरी तरह से शराब के नशे में था। वो इतना ज़्यादा टल्ली था की वो ठीक से जवाब भी नहीं दे पा रहा था।

इसके बाद लोगों गाडी को घेर लिया और स्थानीय पुलिस को इतल्ला किया। जांच में सामने आया की आरोपी ड्राइवर का नाम अंकुश है जो अपने सहयोगी हवलदार के का साथ मुंबई पुलिस की गाड़ी चला रहा था। गाडी के पीछे मुंबई के एम एच बी थाने का नाम लिखा था। जानकारी सामने आने के बाद वरिये अधिकारियों ने मामले का संघ्यान लेते हुए आरोपी पुलिसवालों के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दे दिया है। साथ ही दोनों पर डिपार्टमेंट कार्रवाही के भी आदेश दे दिए गए हैं।

 


Close Bitnami banner
Bitnami