परमिट कैब का चला रहा था लिमोज़ीन

अँधेरी RTO ने एक ऐसी कार पकड़ी है जिसकी कीमत तो करोड़ों में है लेकिन उसका परमिट मामूली टैक्सी का है। अँधेरी RTO को जानकरी मिली थी की कुछ लोग कैब के परमिट पर लिमोजीन चला रहे हैं। ये महंगी लिमोज़ीन मुंबई के बड़े और पांच सितारा होटलों में सर्विस के लिए जाती है। जिसके बाद टीम ने एक होटल के बाहर इस कार को पकड़ा तो पाया की मैक्सीकैब को मोडिफाई कर लिमोज़ीन में तब्दील किया गया है। 

अंधेरी RTO स्पेशल फ्लाइंग स्क्वॉड के इंस्पेक्टर आनंदराम वागले के मुताबिक़, ‘ हमें ये कार एक बड़े होटल के बहार मिली, हमने जब ड्राइवर से पुछ्ताछ के बाद दस्तावेज़ों की जांच की तो कई घालमेल सामने आया। कार की चेसिस 2007 की बनी है पर दिल्ली RTO के डॉक्युमेंट में 2012 दर्ज है। और तो और कहीं भी लिमोज़ीन से जुड़े पेपर्स नहीं थे। 

पूछताछ में कार के मालिक ने बताया की गाड़ी को 10 सीटर के नाम पर रजिस्टर कराया गया था, जबकि परमिट मैक्सीकैब के नाम पर है। सूत्रों ने बताया कि इस गाड़ी को दिल्ली से एक इवेंट के लिए किराये पर लाया गया था। और यहाँ गलत तरीके से चलाई जा रही थी। फिलहाल कार को ज़ब्त कर लिया गया है और जांच की जा रही है की मॉडिफिकेशन क्या वीइकल टेस्टिंग एजेंसी से अप्रूव था या नहीं।


Close Bitnami banner
Bitnami