पुलिस का दावा फिदायीन स्टाइल से थी जलाकर डी एस पी को मारने की प्लैनिंग,लेकिन अकेले जला युवक

मुंबई से चंद किलोमीटर दूर वसई में एक शख्स ने DYSP कार्यालय के बाहर खुद को आग के हवाले ख़ुदकुशी कर ली। घटना शनिवार शाम 6 बजे के आस पास की है। लेकिन अब इस मामले में जो जानकारी सामने आई है वो हैरान करने वाली है। पुलिस का दावा है युवक सिर्फ ख़ुदकुशी करने नहीं आया था बल्कि उसकी प्लैनिंग थी की वो अपने साथ इलाके के डी एस पी को भी मारना चाहता था। पुलिस ने दावा किया है कि युवक की प्लानिंग डी एस पी को फिदायीन तरीके से मारने की थी।

ख़ुदकुशी करने वाले युवक की पहचान विकास झा 23 के तौर पर हुई है। ख़ुदकुशी करने के पहले विकास ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट लिखा कि ‘ मै जान दे रहा हूँ ‘ उसके बाद वो पेट्रोल लेकर पुलिस दफ्तर के पास पहुंचा और खुद के ऊपर पेट्रोल छिड़क कर जला लिया। उसके बाद विकास सीधे पुलिस अधिकारी राज तिलक रोशन के कार्यालय में घुस कर उन्हें पकड़ने की कोशिश की लेकिन डी एस पी किसी तरह खुद को बचा पाये। हल्की आईएनएस सबके बीच वो भी घायल हो गए हैं।  कार्यालय में मौजूद वसई के पुलिस निरीक्षक विश्वास दलवी ने युवक के ऊपर मिटटी डालकर आग को बुझाने कि कोशिश की।  लेकिन युवक ने उन्हें भी धक्का दे दिया। फिर किसी तरह वहां मौजूद लोगों ने विकास के ऊपर पानी डालकर आग को बुझाया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया। जहाँ पर उसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी।

जानकारी के मुताबिक मृतक युवक विकास झा विरार के फुलपाड़ा का रहने वाला है। और वो हितेंद्र ठाकुर की पार्टी से भी जुड़ा हुआ है। पुलिस की माने तो मृतक आपराधिक पृष्ट्भूमि से है। उसके ऊपर वसई विरार में कई आपराधिक मामले भी दर्ज है।  पुलिस सूत्रों की माने तो उसे जल्द ही इन सब मामलों को लेकर पुलिस तड़ीपार करने वाली थी। जिससे वो काफी परेशान था।  सूत्रों की माने तो युवक इससे छुटकारा पाने के लिए ये सब किया।

वही युवक के पिता का कहना है कि उनके बेटे पर लगाए गए सभी आरोप झूठे है। पालघर पुलिस हर बार उसके ऊपर झूठा  केस बनाकर उसे फंसाने की कोशिश कर रहे थी। जिससे तंग आकर उसने ये कदम उठाया है।


Close Bitnami banner
Bitnami