पूरी रात फंसे रहे लोग, मुंबईकरों ने ढूंढ ढूंढ कर की मदद

मुंबई में पिछले 24 घंटे से लगातार मूसलाधार बारिश हो रहीं है. बारिश की वजह से जहाँ ज़बरदस्त जलजमाव हो गया है. महज़ कुछ घंटों की बारिश ने हमेशा दौड़ने भागने वाली मुंबई को रेंगने पर मजबूर कर दिया है. बारिश है की रुकने का नाम नहीं ले रही है अपने अपने काम पर जाने वाले लोग भी जहाँ तहाँ फँस कर रह गए हैं. सड़क नदी में तब्दील हो चूका है तो पटरियों पर सैलाब आए गया है, ऐसे में न तो गाड़ियां चल पा रहीं हैं और न ही मुंबई की जान कही जाने वाली लोकल. ऐसे में ट्रेनें जहाँ तक रोक दी गयी हैं.

पिछले कई घंटों से हार्बर लाइन सेंट्रल लाइन पूरी तरह से ठप्प है.सायन,कुर्ला,चूनाभट्टी,माटुंगा सेंट्रल,ठाणे, मुलुंड, सहित कई रेलवे स्टेशनों पर हज़ारों मुसाफिर लोकल ट्रेनों में बंधक बनकर रहने को मजबूर हो गए हैं. उनके पास न तो पीने का पानी था और ना ही रौशनी उन्हें तो ये तक पता नहीं था की वो कहाँ फंसे हैं. ऐसे में कुछ लोगों ने इन फंसे हुए लोगों की मदद की वो देर रात अँधेरे में अपनी जान पर खेलकर न सिर्फ उन लोगों तक पहुंचे जो फंसे हुए थे, बल्कि उनके लिए खाने पीने का भी इंतज़ाम किया. इतना ही नहीं RPF की टीम के साथ मिलकर रेस्क्यू भी किया.

इनमे से कुछ ऐसे भी लोग थे जिनको रेस्क्यू नही किया जा सका है क्यों के वो अपंग थे और उन्हें पानी में उतारना खतरे से खाली नहीं था. 

 


Close Bitnami banner
Bitnami