तीन माह में 46 की मौत

महाराष्ट्र में जहाँ एक तरफ भीषण गर्मी का कहर है तो दूसरी तरफ स्वाइन फ्लू ने भी कई ज़िलों को अपनी चपेट में ले रखा है। राज्य में स्वाइन फ्लू से पिछले तीन महीने के दौरान मारने वाले की संख्या पच्चास के करीब पहुँच गयी है। ये आंकड़ा सिर्फ दो ज़िलों का है जबकि दूसरे कई शहरों में भी मरने वालों की संख्या में इज़ाफ़ा हो रहा है।
 
सरकारी आंकड़ो की मानें तो पुणे और नासिक को इस बीमारी पूरी तरह अपनी चपेट में ले लिया है। पुणे में स्वाइन फ्लू से मारने वालों की संख्या 26 के पास पहुँच गयी है जबकि 155 लोगों में स्वाइन फ्लू का H1N1 वायरस पाये गए हैं। करीब तीन दर्जन मरीजों का शहर के अलग अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। 

वहीँ नाशिक में ये आंकड़ा 20 पर कर चूका है। ये सभी की मौतें 3 माह जनवरी से मार्च के बीच हुई है। नाशिक के कई अस्पतालों में अब भी मरीज़ भर्ती हैं जिनमे जिला अस्पताल में स्वाइन फ्लू के 6 मरीजों का उपचार शुरू है। जबकि मनपा क्षेत्र के निजी अस्पतालों में 29 कुल 35 स्वाइन फ्लू मरीजों का उपचार शुरू है. वहीँ नाशिक में 97 लोगों में स्वाइन फ्लू का H1N1 वायरस पाये गए हैं।

अधिकारियों के मुताबिक़ नासिक के ग्रामीण हिस्सों में बीमारी का फैलाव अधिक हुआ है। बीमारी फैलाव के चलते जनवरी से मार्च के बीच जिला अस्पताल, जिला परिषद और मनपा क्षेत्र में 41 हजार 619 लोगों का स्वास्थ्य जांच किया गया था। इसमें 71 स्वाइन फ्लू बांधित पाए गए, जबकि प्राथमिक जांच में बीमारी के 403 संदिग्ध मरीज मिले। सभी मरीजों को टॅमी फ्लू दवाई देकर उपचार शुरू किया गया था किंतू, इनमें से 19 की मौत हो गई, जबकि 35 पर उपचार शुरू है. यानि कि पिछले 3 माह में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 19 तक पहुंच गई है।

Image result for पुणे में स्वाइन फ्लू

स्वास्त्य विभाग का दावा है की ऐसे मरीजों के उपचार के लिए सरकारी अस्पतालों में स्वतंत्र रूप से स्वाइन फ्लू कक्ष तैयार किया गया है. जिला अस्पताल में 6 मरीजों का उपचार शुरू है। इसमें 1 पुरुष जबकि 5 महिलाओं का समावेश है। देवलाली कैंप की मां-बेटी, मालेगांव तहसील की 1 महिला, अंबड के 1 पुरुष जबकि 2  पंचवटी  की महिलाओं का समावेश है। 

आरोग्य विभाग का कहना है कि आम तौर पर ऐसा देखा जाता है कि किसी भी बीमारी का वायरस हर पांच साल में एक बार दोबारा ज्यादा सक्रिय पाया जाता है लेकिन इस बार सिर्फ दो साल के भीतर ही स्वाइन फ्लू ने लोगों को अपने शिकंजे में ले लिया। 


Close Bitnami banner
Bitnami