`द बर्निंग बस` में फंसी थी 40 ज़िंदगियाँ, कुछ सेकंड की दूरी पर थी मौत

महाराष्ट्र के अकोला से गुजरने वाले मुंबई-कोलकाता नेशनल हाईवे और हाईवे पर दौड़ती ‘द बर्निंग बस’ और बस में फंसी 40 ज़िंदगियाँ. ये सब किसी फ़िल्मी सिन से कम नहीं था. लेकिन ड्राइवर की चालाकी ने एक बड़ा हादसा टाल दिया. 

घटना कल देर शाम की है स्टेट ट्रांसपोर्ट की एक चलती बस में भीषण आग लग गई। गनीमत यह रही कि, ड्राइवर ने चालाकी दिखाई और बस को ऐसी जगह ले जाकर रोकी जहाँ से सबको सकुशल निकला जा सके. हुआ भी वही, सही समय पर यात्रियों को उसमें से निकाल लिया गया। जिसके कारण बड़ा हादसा टल गया। 

बस में आग तब लगी थी जब बस बई-कोलकाता नेशनल हाईवे पर अकोला के खेमगांव के पास से गुज़र रही थी। तभी शॉर्टसर्किट हुआ और बस में आग लग गयी, पल भर में ये आग इतनी भीषण हो गयी की लोगों को निकलने का मौका तक नहीं मिला. तभी ड्राइवर ने चालाकी दिखाई और बस को एक खेत के पास रोका और पत्थर मार कर खिड़कियों के शीशे तोड़े और यात्रियों ने भी फुर्ती दिखाते हुए फटाफट बस से छलांग लगा दी और कईयों को जान बचाई गई. 

पुलिस के मुताबिक एक्सीडेंट के वक्त बस में तकरीबन 40 लोग सवार थे. बस रुकते ही उसमें तेज धमाका हुआ और पलभर में पूरी बस आग का गोला बन गई.

 


Close Bitnami banner
Bitnami