टीवी अभिनेत्री शिल्पा शिंदे हड़ताल पर बैठे लोगों के समर्थन में उतरीं

मुंबई के फिल्मसिटी में पिछले 9 दिनों से टीवी और फिल्म के कामगार, टेक्नीशियन और महिला कलाकार हड़ताल पर बैठ गए हैं। उनका कहना है की निर्माता शूटिंग की जगह इतनी दूर कर देते है की उन्हें तकलीफ होती है। और इतना दूर जाकर काम करना में उन्हें कोई मुनाफा नहीं होता है। टीवी अभिनेत्री भी उनकी इस मांग को जायज़ समझते हुए उनका साथ देने वहां पहुंच गयी। 

शिल्पा शिंदे , टीवी अभिनेत्री ने बताया की , उनको कामगारों, टेक्नीशियन और महिला कलाकार की मांग जायज़ लगी है। इसलिए वह उनका साथ देने के लिए वह भी हड़ताल पर बैठेंगी। उन्होंने बताया की , निर्माता अपने फायदे क लिए शूटिंग की जगह को इतनी दूर रखते है की लोगों को परेशानी झेलनी पड़ती है। इतनी दूर महिला कलाकार का आना और देर शूट के बाद वसपसी में भी दिक्कत्तें आती हैं। यह फिल्म और टीवी के कामगार और हम अभिनेता , निर्माता , निर्देशक सब एक परिवार  की तरह है। यह अपनी परेशानी आपस में नहीं बताएँगे थो किसे बताएँगे? शिल्पा शिंदे की रूचि और उनकी सहनभूति को देखते हुए फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाई के प्रेसिडेंट बी एन तिवारी और जनरल सेक्रेटरी दिलीप पिठवा ने उनका दिल से स्वागत किया।

शिल्पा शिंदे का ये भी कहना है की , जब तक आप इंडस्ट्री में बतौर एक्ट्रेस काम कर रही हैं तो लोग आपकी बहुत इज़्ज़त करेंगे। और जहाँ आप बगैर काम के हो गए आप को कोई पूछेगा भी नहीं। जब मैं किसी कामगारों की मुश्किल के बारे में निर्माता को बताती थो मुझसे कहा जाता की आप अपने काम पे ध्यान दे मदर टेरेसा न बने।

यह हड़ताल में टीवी और फिल्म के करीब 2.50 कामगार, टेक्नीशियन और महिला कलाकार शामिल है। और जब तक इनकी मांग पूरी नहीं होगी यह हड़ताल जारी रहेगी।

 


Close Bitnami banner
Bitnami