ये हादसा नहीं हत्याकांड है ! अपनों का दर्द छलका, कहा सरकार ने मेरा घर उजाड़ा

किसी ने परिवार से दो दो लोगों को खोया है तो किसी का अपना मिलते ही नहीं मिल रहा है। कोई हाथों में तस्वीर लिए पोस्टमॉर्टेम रूम की तरफ भाग रहा था तो कोई अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ारहा था। हर आँख नम थी लेकिन उम्मीद जरूर थी की बुरी खबर नहीं मिले। ये तस्वीरें है मुंबई के केम अस्पताल के बाहर की जहां लोगों का ताँता लगा है एल्फिंस्टोन ब्रिज पर हुए हादसे के बाद घायलों को सबसे पहले इसी अस्पतालों में लाया गया था। जहाँ 27 लोगों के मौत की पुस्टि हो चुकी है वही 35 से जयादा लोग अस्पताल के बेड पर अपनी जिंदगी के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं।

मुंबई में एल्फिंस्टन रोड पर हुए हादसे ने लोगों के दिलों पर ऐसा ज़ख्म दिया है जो मिटाये नहीं मिट सकता। कुछ को तो अपने मिले ज़रूर हैं, लेकिन अब वो चार कन्धों पर ही घर पहुंचेगे, वो भी आखरी बार। मगर कई ऐसे हैं जिनके अपनों का कोई अता पता नहीं है। रोते बिलखते अब तो उनके आँखों के आंसू भी सुख चुके हैं। कई परिवार दिखाई तो दिए लेकिन हिम्मत नहीं हुई की उनसे ये पुछा जा सके की उनका कौन इस हादसे की चपेट में आ गया है और फिलहाल वो कैसा है। एक आध के मुँह से दूर से सुना, कह रहे थे ये हादसा नहीं हत्याकांड है। इस सरकार इस प्रशासन ने हमेशा के लिए उनके अपनों को उनसे छीन लिया है उनपर हत्या का मामला दर्ज हो तभी चैन मिलेगा।

उनके दर्द को हम नहीं दिखा सकते लेकिन उनकी तस्वीरें दिखा रहे हैं जिन्होंने इस हादसे में अपनों को खोया है।

सुबह भगदड़ में लोगों के मौत की खबर जैसे शहर भर में फैली वैसे ही लोग अपनों की तलाश में घटना स्थल पर पहुंचे। रोते बिलखते लोग अपनों की तलाश  में कभी दौड़ कर अस्पताल के अंदर जाते तो कभी भाग कर पोस्टमॉर्टेम रूम की तरफ, लेकिन वहां जाते ही उनके कदम ठिठक जाते। कई तो ऐसे भी दिखे जो टूटकर सड़क पर ही बिखरने लगे।

देखें तस्वीरें :

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

IN Pics: Stampede in Parel Station Mumbai

 


Close Bitnami banner
Bitnami