0

ईरान के तेल टैंकर पर मिसाइल पर दो मिसाइलों से हमला हुआ है। सरकारी मीडिया ने तेल टैंकर पर हुए मिसाइलों से हमले की खबर दी है। खबर के अनुसार दो मिसालइलों से ईरान के सिनोपा तेल टैंकर पर हमला किया गया। यह तेल टैंकर नेशनल ईरानियन टैंकर कंपनी का था।

हमले के समय यह तेल टैंकर सऊदी तट से लगभग 100 किलोमीटर दूर जेद्दा बंदरगाह के करीब था। विस्फोट में टैंकर को काफी नुकसान पहुंचा है। हमले के बाद से टैंकर से तेल का समुद्र में रिसाव हो गया है। इस हमले के बाद से सऊदी अरब और ईरान में तनाव बढ़ सकता है।

ईरान की नूर समाचार एजेंसी के अनुसार हमले में चालक दल के सभी सदस्य सुरक्षित हैं और टैंकर की स्थिति अभी स्थिर है। ईरान की एलीट रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कॉर्प्स के करीबी न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार विस्फोट में चालक दल का कोई भी सदस्य घायल नहीं हुआ है… स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है।

हमले वाले क्षेत्र के पास मौजूद अमेरिकी नेवी फ्लीट का कहना है कि उसे हमले को लेकर मीडिया रिपोर्ट की जानकारी है लेकिन उनके पास इस संबंध में अभी कोई ठोस जानकारी नहीं है। वहीं, ईरानी की आईएसएनए न्यूज एजेंसी ने इसे तेल टैंकर पर ‘आतंकवादी हमला’ बताया है।

मालूम हो कि सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सऊदी आरामको कंपनी पर हमले के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव चरम है। दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी सऊदी आरामको पर 14 सिंतबर को ड्रोन से हमला किया गया था। इस हमले के बाद कंपनी को आंशिक तौर पर तेल का उत्पादन बंद करना पड़ा था। कंपनी के कामकाज बंद होने से दुनिया को सप्लाई होने वाले करीब 5 फीसदी तेल की आपूर्ति प्रभावित हुई थी।

यमन के हाउती ग्रुप ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। हालांकि, अमेरिकी अधिकारियों का कहना था कि यह हमला दक्षिणपश्चिमी ईरान की तरफ से हुआ है। सऊदी अरब ने भी इस हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। मालूम हो कि ईरान यमन युद्ध में हाउती विद्रोहियों का समर्थन कर रहा है। वहीं, ईरान ने इस हमले से पूरी तरह से इनकार किया था।

टेरर फंडिंग मामले में UP-ATS ने लखीमपुर में 4 संदिग्ध दबोचे, पूछताछ जारी

Previous article

मिसाल: पिता की अर्थी को बेटियों ने दिया कांधा और मुखाग्नि तो देखकर लोग हुए दंग !

Next article

You may also like

More in News

Comments

Comments are closed.