0

प्रख्यात सैक्सोफोन वादक कादरी गोपालनाथ का शुक्रवार तड़के यहं एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 69 साल के थे। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे।

उनके परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटे और एक बेटी है। ‘सैक्सोफोन सम्राट’ की उपाधि के अलावा गोपालनाथ को केंद्र संगीत नाटक अकादमी, तमिलनाडु सरकार का कलईमामणि, कर्नाटक कलाश्री, गन कला भूषण और नाद गंधर्व जैसे तमाम पुरस्कारों से नवाजा गया था।

पद्मश्री से सम्मानित और देश में सैक्सोफोन से संगीत देने के प्रवर्तकों में से एक गोपालनाथ को लंदन में 1994 में रॉयल अलबर्ट हॉल के बीबीबी प्रोमीनेड कार्यक्रम में आमंत्रित होने वाले पहले कर्नाटिक संगीतज्ञ का विशेष सम्मान भी प्राप्त है। गोपालनाथ के बेटे मनीकांत कादरी प्रख्यात संगीत निदेशक हैं।

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि उन्हें पीठ में दर्द की शिकायत के बाद बृहस्पतिवार को यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था और दिल का दौरा पड़ने की वजह से शुक्रवार तड़के उनका निधन हो गया। गोपालनाथ चेन्नई में संगीत की दुनिया में सक्रिय थे जबकि वह रहने वाले तटीय कर्नाटक के थे।

उनका जन्म दक्षिण कन्नड़ जिले के बंतवाल तालुक के सजीपा मूडा गांव में छह दिसंबर, 1949 को हुआ था। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने गोपालनाथ के निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनके निधन से संगीत जगत ने एक महान संगीतज्ञ खो दिया।

सूत्रों ने बताया कि उनका अंतिम संस्कार शनिवार को किया जाएगा। उनके बड़े बेटे गुरुप्रसाद के कुवैत से यहां पहुंचने के बाद अंतिम संस्कार होगा। उन्होंने बताया कि उनके शव को अंतिम दर्शन के लिए यहां टाउनहॉल में रखा जाएगा।

पेरेंट्स बनने के सवाल पर दीपिका ने कहा- ‘हम अभी पूरी तरह अपने करियर पर ध्यान दे रहे हैं’

Previous article

सेना की चेतावनी, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 500 से अधिक आतंकवादी भारत में घुसपैठ की फिराक में है

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.