अब नागपुर में सेल्फी बना हत्यारा, सेल्फी लेने के चक्कर में 8 की मौत

अब नागपुर में सेल्फी फिर जानलेवा साबित हुआ है। कुछ छात्र गए तो थे पिकनिक मनाने लेकिन एक छोटी सी गलती उनके लिए जानलेवा साबित हुई। सभी एक बोट पर सवार होकर डैम के अंदर चले गए। सेल्फी लेने के चक्कर में नाव का संतुलन बिगड़ा और अचानक पलट गई। जिस वक़्त ये हादसा हुआ नाव कुल 11 लोग सवार थे। किसी तरह तीन को बचा लिया गया लेकिन 8 डूब गए। हादसे के बाद गोताखोरों की मदद से देर रात तक चार लाशें निकाल ली गईं है और बाकियों की तलाश जारी है।

पुलिस की मानें तो पूरी रात रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के बाद अब तक चार शव निकाले जा चुके हैं। गोताखोर लगातार बाकियों की तलाश में लगे हैं। नाव जहाँ पलटी थी वहां काफी गहराई है और ऐसे में कई घंटे बीत जाने के बाद किसी की भी बचने की उम्मीद काम है।

Related image

बताया जा रहा है की डूबने वाले सभी युवक स्थानीय हैं और दत्तात्रय नगर के ही रहने वाले हैं। सभी दोस्त अमोल दोड़के, रोशन दोड़के, राहुल जाधव, अंकित भोसकर,परेश काटोके, अतुल भोयर, पंकज डोईफोड़े और प्रतीक आमडे पिकनिक मनाने गोंडखैरी स्थित वेना बांध गए थे। वहीँ सभी ने एक नाव भाड़े पर ली और दूर डैम के अंदर चले गए। बीच में पहुँचते ही सभी बोट पर नाचने गाने लगे, जिससे नाव का संतुलन बार बार बिगड़ रहा था। नाविक ने उन्हें मन भी किया लेकिन वो नहीं माने।

इसी बीच सभी युवक अचानक सेल्फी लेने के चक्कर में एक तरफ आ गए जिससे नाव का संतुलन बिगड़ने लगा। इससे पहले कोई खुद को संभल पाटा नाव पलट गई गहरे पानी में डूब गई। जब शोर हुआ तो आस पास खड़े कुछ स्थानीय लोगों ने छलांग लगाकर 3 की जान बचा ली।