Maharashtra/Goa

अगर गाँव वाले नहीं होते तो शायद नहीं बच पाती ये 12 ज़िंदगियाँ

0

पूरे महाराष्ट्र में पिछले कई दिनों से लगातार बारिश हो रही। कई ज़िले बाढ़ की चपेट में आ गए हैं, सिर्फ मराठवाड़ा में बाढ़ के पानी में बहने से पांच लोगों की मौत हो गयी हैं। लेकिन इसी बीच औरंगाबाद में ग्रामीणों के सूझ बुझ की वजह से एक बड़ा हादसा टल गया। कडेठाण गांव से राज्य परिवहन निगम की एक बस तेज़ धार में फँस गई और बहने लगी। उस वक़्त बस में करीब 12 यात्री मौजूद थे जो फंस गए थे। तभी गांव वाले वहां जुटे और किसी तरह यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला।

घटना औरंगाबाद के कडेठाण गांव की है, राज्य परिवहन निगम की एक बस पैठण जा रही थी। सड़क पर बाढ़ जैसी हालत थी और एक पूल भी बाढ़ की चपेट में आ गया था। लेकिन बस का ड्राइवर पानी का अंदाजा नहीं लगा सका और वो बस को आगे बढ़ाता चला गया। फिर क्या था बस नाले के बीचो बीच गहरे पानी में जा फँसी और आगे निकल नहीं पाई और डूबने लगी।

तभी ग्रामीणों को इसकी जानकारी मिली और उन लोगों ने वहाँ पहुंचकर बस में सवार 12 यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला। लेकिन बस वहीं पर फंसी रह गई। बाद में प्रशासन ने क्रेन की सहायता से बस को पानी से बाहर निकाला।

 

Irfan Siddiqui

हुबली एक्सप्रेस पर अचानक गिरी चट्टान, तीन यात्री बुरी तरह घायल

Previous article

बीजेपी की एक और चुनावी जीत, शिवसेना को दी करारी शिकस्त

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami