Maharashtra/Goa

Exclusive- माफिया करा रहे हैं अधिकारियों की जासूसी

0

इन दिनों खनन माफियाओं एयर अधिकारियों के बीच एक अजीब खेल शुरू हुआ है। तू डाल डाल मैं पात पात, यानी प्रशासन पुलिस जितनी भी कोशिश कर लें मात वही खाएंगे। हाल के दिनों में प्रशासन ने अवैध खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान शुरू करके उनकी धार पकड़ शुरू की थी। लेकिन उन्हें चकमा देने के लिए खनन माफियाओं ने उपाय ढूंढ निकला है।

अधिकारियों को चकमा देने के लिए अवैध खनन माफिया इन दिनों वाट्सएप ग्रुप का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिसमे विभाग के उन लोगों को शामिल रखा गया है जिन्हें माफियाओं से लाखों रुपयों का हफ्ता जाता है। जैसे ही किसी सुचना पर टीम रेड के लिए निकलती है, विभाग में बैठे इनके लोग व्हाट्स ऍप के ज़रिये उनतक खबर पहुंचा देते हैं। वो अफसरों के वाहनों की जासूसी कर उनकी पल-पल की लोकेशन डंपर और ट्रक चालकों को देते हैं। इससे पहले की अफसर वहां तक पहुँच पाए पहले ही ऐसे ट्रकों और गाड़ियों के रास्ते बदल लिए जाते हैं। 

Image result for illegal Mining trucks Nagpur

इस काम के बदले माफिया अपने शुभचिंतक अधिकारियों को एक खबर के बदले लाखों रुपयों तक देते हैं। वहीँ रेड पर निकली टीम हाँथ मलते रह जाती है। ये माफिया ऐसे ग्रुप्स का इस्तेमाल भी बिलकुल अलग तरीके से करते हैं। सारे मेसेज वॉइस फॉर्मेट में भेजा जाता है ताकि काम पढ़े लिखे ड्राइवर और क्लीनर भी आसानी से समझ सकें।

और तो और ऐसे ग्रुप्स के नाम भी बिलकुल अलग होते हैं। जैसे की काय सांगू मामा, गाड़ी दाबून घे बाजूला, पोलिस अाला, काय सांगू दादा। एक एक ग्रुप में 250 – 250 लोग रखे जाते हैं। इन ग्रुप्स में दो दो लाइन ये वॉइस मेसेज कुछ इस तरह से आते हैं। 

अवैध खनन ट्रांसपोर्ट: रेत माफिया वॉट्सएप से करा रहे हैं अधिकारियों की जासूसी

गिद्ध निकला है मीट की तलाश में … घोंसले से उड़ जाओ . मतलब रेड टीम निकली किसी ख़ास ठिकाने के लिए 
मगरमच्छ मछलियां तलाश रहा है, काम पानी में तैरो. यानी ट्रक सड़क पर है तो किसी गली कूचे में डाल दो 
अगर सब क्लियर हो तो सन्देश कुछ इस तरह से दिया जाता है…. खड्डे भर दिए गए हैं 
लोकेशन जानने के लिए कुछ इस तरह से बात की जाती है … चाँद किस दिशा 

पिछले साल ऐसे अवैध ट्रकों और माफियाओं पर कार्येवहि करके 4 करोड़ 58 लाख रुपये का जुर्माना वसूला था। लेकिन इस साल इन लोगों की चौतराई के कारण ज़्यादातर रेडों में अधिकारियों को खाली हाँथ ही लौटना पड़ रहा है। 

नयना पुजारी हत्याकांड- दोषियों को फांसी

Previous article

अपराध की गॉडमदर, जिसके एक इशारे पर होती बड़ी बड़ी लूट

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami