उजनी डैम में बोट पलटने से 3 डाॅक्टर डूबे, 6 को बचाया गया

सेल्फी लेने के चक्कर में लोग इस क़दर लापरवाह बन जाते हैं कि उन्हें पता ही नहीं चलता कि कब मौत उनके बेहद करीब आ गयी और उन्हें अपने आगोश लेकर चली गयी। इस बार मामला महाराष्ट्र के पुणे जिले के इंदापुर कि है। जहाँ के उजनी डैम में घूमने गए डॉक्टरों कि बोट पलट गयी और डूबने से 3 डाॅक्टरों की मौत हो गयी। जबकि 1 अभी भी लापता है और उसकी तलाश जारी है, जबकि 6 को बचा लिया गया। 

ये सभी डॉक्टर सोलापुर के मालशिरस में रहने वाले हैं। और 10 डॉक्टरों कि ये टीम पुणे के इंदापुर तालुका के आजोती गांव में पिकनिक मनाने गए थे। सभी अपने एक डॉक्टर दोस्त के फार्म हाउस पर रुके थे। और वहीँ से ये सभी एक छोटी बोट लेकर उजनी डैम के बैक वाटर में घूमने निकले। बीच में पहुँचते ही सभी डाॅक्टर सेल्फी लेने के लिए एक साथ खड़े हो गए। एक तरफ भार पड़ने से अचानक बोट का बैलेंस बिगड़ गया और वह पलट गई।

Image result for indapur doctor boat capsizes

इनमे से कुछ डॉक्टर को तैरना आता था जो किसी तरह बहार निकले और गांव वालों को मदद के लिए बुलाया। लेकिन तब तक काफी देर हो गई थी, 4 डॉक्टर तैरना नहीं जानते थे और उनकी डूबने से मौत हो गई। हालांकि बाकियों बचा लिया गया लेकिन शवों को ढूंढ़ने के लिए देर रात तक रेस्क्यु आॅपरेशन चलाया गया। देर रात 3 डाॅक्टर की बाॅडी मिल गई है जबकि, एक की तलाश जारी है। 

मरने वाले डॉक्टरों कि पहचान  डॉ. सुभाष मांजरेकर, महेश लवटे सर्जन, चंद्रकांत उराडे और अण्णा शिंदे के तौर पर हुई है। डॉ. प्रवीण श्रीरंग पाटिल, दत्तात्रय भगवान सर्चे, अतुल विनोदकुमार दोषी, श्रीकांत नंदकुमार देवडेकर, डॉ. समीर अशोक दोषी और डॉ. दिलीप वाघमोडे ने तैरकर अपनी जान बचाई।