8वीं मंजिल से कूदकर लड़की जान देने ही वाली थी

अगर मुंबई पुलिस के इस अफसर ने अपनी सूझबूझ नहीं दिखाई होती तो शायद इस लड़की का बचा पाना बेहद मुश्किल होता. मुंबई पुलिस की इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा आखिरी वक़्त तक लड़की को समझाती रहीं. आखिरकार करीब 4 घंटे भर की मशक्कत के बाद वो  32 साल की युवती की जान बचाने में कामयाब रहीं. 

हुआ ये कि वडाला इलाके कि रहने वाली एक महिला वकील एक 20 मंज़िले इमारत पर चढ़ गयी. वो 18वीं मंजिल से कूदकर खुदकुशी करने की कोशिश में थी. पुलिस के मुताबिक, महिला वकील है और वो मानसिक रूप से बहुत परेशान चल रही है. अचानक सुबह दस बजे माँ को फोन किया और ख़ुदकुशी के लिए निकल गयी. वो अपने घर से दूर वडाला में स्टेशन के पास विष्णुचंद्र स्काई नाम इमारत पर चढ़ी और इमारत कि 18वीं मंजिल के किनारे पर आकर कूदने के लिए खड़ी हो गयी. तभी आस पास के लोगों ने ये दृश्य देखा और पुलिस को इत्तेला किया गया. बिना वक़्त गवाएं पुलिस टीम भी समय पर मौके पर पहुँच गयी. साथ में मौके पर फायर ब्रिगेड कि टीम को भी बुला लिया गया.

किसी तरह पुलिस और फायर ब्रिगेड कि टीम बिल्डिंग पर चढ़ तो गयी, लेकिन उन्हें देखते ही लड़की उत्तेजित हो गयी और कूदने का प्रयास करने लगी. तकरीबन एक घंटे की कोशिश के बाद भी स्थानीय पुलिस उसे समझाने में नाकाम रही.मगर किसी तरह पुलिस ने लड़की को एक घंटे तक उलझाए रखा. तब तक आला अफसर भी मौके पर पहुँच चुके थे. इसके बाद फ़ौरन इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा कि तलाश शुरू हुई जो ऐसे मामलो को संभालने में एक्सपर्ट मानी जाती हैं. 

Image result for iNSPECTOR sHALINI sharma mumbai police

फिलहाल चिमूर थाने में तैनात शालिनी शर्मा, इससे मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच में काम कर चुकी हैं और उन्होंने ऐसी परिस्तिथि से निपटने के लिए स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस से ट्रेनिंग ली है. शालिनी शर्मा ने इसके पहले भी अपनी सूझबूझ और कॉउंसलिंग के ज़रिये वो एक जान पहले बचा चुकी हैं. जब इलाके डीसीपी का फोन आया था इंसेक्टर शालिनी शर्मा कोर्ट के रास्ते में थी. लेकिन आदेश मिलते ही वो सीधे मौके पर पहुंची.

मौके पर पहुँचते ही वो सीधे लड़की के पास पहुंची और उसे समझने में लग गयीं. कई कोशिश के बाद भी लड़की उनसे बात नहीं कर रही थी. करीब घंटे भर कि मशक्कत के बाद वो लड़की का भरोसा जीतने में कामयाब रहीं और उसे बातों में उलझाए रखते हुए उसके करीब पहुंची. अभी भी लड़की और शालिनी शर्मा के बीच करीब 10 फ़ीट कि दूरी थी. तभी अचानक उन्हें मौका मिला और सीधा वो लड़की पर झपटकर उसे किनारे से अलग कर दिया. तब तक वहां मौजूद पुलिसकर्मी भी आगे बढे और लड़की को बचा लिया गया.

एक वक़्त तो ऐसा भी आया जब सबने हार मान ली थी. दमकल कर्मी इमारत के नीचे जम्पिंग सीट बिछाकर इंतजार करते रहे एम्बुलेंस के साथ डॉक्टरों की टीम को भी मौके पर बुला लिया गया. वायरलेस तक पर वरिये अधिकारियों को ये संदेश दे दिया गया कि काफी देर हो चुकी शायद मामला न सुलझे. 

पहले तो लड़की को अस्पताल ले जाय गया फिर उसनी अपनी जानकारी पुलिस को दी. जिसके बाद उनके घरवालों को बुलाकर लड़की को उनके हवाले किया गया.