Mumbai

आफत की बारिश में बाद दिखा तबाही का मंजर, इस हाल में मिल रही हैं लाशें

0

शहर में मंगलवार को आई बारिश की तबाही के निशान आज भी देखने को मिल रहे हैं। मुंबई में पानी कम होने पर जगह-जगह पानी में बही गाड़ियां और डेड बॉडी मिल रही हैं। प्रशासन ने मुंबई और ठाणे में 14 लोगों के मौत की पुष्टि कर दी है। आफत की बारिश के बाद अब मुंबई में बीमारियों का खतरा बढ़ गया है।

– मुंबई में ही 6 लोगों के मरने की खबर है। इनमें शहर के प्रतिष्ठित बॉम्बे हॉस्पिटल के डॉक्टर दीपक अमरापुरकर शामिल हैं।
– डॉ अमरापुरकर मंगलवार शाम से गायब थे। एक शख्स ने उन्हें हॉस्पिटल के पास के मेनहोल में गिरते हुए देखा था। जिसके बाद उनकी तलाश शुरू हुई और गुरुवार तड़के मुंबई के वर्ली इलाके में उनकी डेड बॉडी बरामद हुई।
– मुलुंड के डॉ. एम. वैद्य भी अभी लापता हैं। जबकि सायन इलाके में बुधवार को 30 वर्षीय वकील प्रियन की लाश उनकी गाड़ी से बरामद की गई। आशंका जताई जा रही है कि उनकी मौत दम घुटने से हुई है।
– वहीं मुंबई पूर्वी उपनगर के विक्रोली में 3 लोगों के मरने की खबर है। सूर्या नगर में भूस्खलन के बाद दो लोगों के शव मिले। दहिसर और कांदिवली में प्रतीक सुनील और ओमप्रकाश निर्मल के खुले गटर में बह जाने की खबर है।
– गणपति विसर्जन के दौरान 17 साल के रोहित कुमार के डूबने की जानकारी सामने आई है। हालांकि प्रशासन की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

ठाणे में भी 7 पानी में बहे

– मुंबई से सटे ठाणे में अलग-अलग स्थानों पर सात लोग पानी में बह गए, जिनमें 5 के शव बरामद किए गए हैं।
– इसमें एक 12 साल की लड़की, दो महिलाएं और दो पुरुष के शव मिले हैं। ठाणे मनपा डिजास्टर सेल के मुताबिक कोरम मॉल के पास अपने पिता के साथ इंदिरा नगर की ओर जा रही संभाजीनगर निवासी गौरी जायसवाल (12) का पैर फिसला और नाले में बह गई।
– रामनगर निवासी मीनू अठवाल (34) तेज बहाव वाले नाले के पानी में गिर गया और बह गया।
– वहीं ठाणे के कलवा निवासी रंजीता शेख (35) का शव शांतिनगर के नाले में मिला। वागले इस्टेट के इंदिरा नगर परिसर निवासी शाहिद शेख (28) का शव कोरम माल के करीब बरामद हुआ, जो नाले में बह गया था।
– धर्मवीर नगर निवासी गंगाराम मानिकचंद बालगुड़े (50) घर के बगल नाले में बह रहे पानी के ड्रम को बचाने के चक्कर में बह गए, जिनका शव बुधवार को आनंद नगर के नाले से मिला।
– इसके अलावा राबोडी के केविला स्थित नाले में एक पुरुष का शव बरामद किया गया है। लेकिन इसकी पहचान अभी तक नहीं हुई है।

देखें तस्वीरें 

डॉक्टर दीपक अमरापुरकर

 

अगर डॉक्टर दीपक अमरापुरकर ने कलाई में नहीं पहनी होती घडी,तो नहीं होती थी लाश कि शिनाख्त

Previous article

मुंबई बिल्डिंग हादसे में बाल बाल बचा अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का परिवार

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami