Mumbai

अगर डॉक्टर दीपक अमरापुरकर ने कलाई में नहीं पहनी होती घडी,तो नहीं होती थी लाश कि शिनाख्त

0

मुंबई में हुई तेज़ बारिश में लापता हुए बॉम्बे हॉस्पिटल के डॉक्टर दीपक अमरापुरकर की लाश को रेस्क्यू टीम ने ढूंढ निकाला है। डॉक्टर के लापता होने के 36 घंटे बाद डॉक्टर की लाश को ढूंढ निकाला गया है। अमरापुरकर की लाश वर्ली के कोलीवाड़ा के पास समुन्द्र में मिली है। रेस्क्यू टीम ने डॉक्टर के लाश की पहचान उनकी कलई में पहनी हुई घडी से की है। लाश को फॉर्मेलिटीज के लिए मुंबई के सायन अस्पताल में भेज दिया गया है। डॉक्टर के लापता होने की शिकायत मिलने के बाद रेस्क्यू टीम ने सर्च ऑपेरशन चलाया था।

ये भी पढ़ें :

भारी बारिश में बॉम्बे अस्पताल के डॉक्टर दीपक अमरापुरकर लापता

मुंबई में आए आसमानी आफत में कई लोगों की जान गई और कई लोग लापता बताए जा रहे थे। जिसमे से बॉम्बे अस्पताल के गॅस्ट्रोअँड्रॉलॉजिस्ट डॉक्टर दीपक अमरापुरकर भी थे। डॉक्टर मंगलवार के दिन अपनी गाड़ी और ड्राइवर के साथ घर के लिए निकले थे। लेकिन सड़क पर पानी जमा होने के कारण उनकी गाड़ी आगे नही जा सकी इसलिए उन्होंने अपने ड्राइवर से कहा कि उनका घर यहाँ से महज दस मिनट की ही दूरी पर है। वो पैदल चले जाएंगे और ड्राइवर से कहा कि वो भी गाड़ी यही कही पार्क कर घर चले आए। ड्राइवर तो घर पहुंच गया लेकिन डॉक्टर नही पहुंचे। जब काफी समय बीत गया डॉक्टर घर नही आए तो घर वालों डॉक्टर के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने शिकायत दर्ज कर डॉक्टर के खोज में जुट गई थी।

रेस्क्यू टीम को सर्च आपरेशन के दौरान बीच सड़क पर खुले एक मैनहोल के बगल में डॉक्टर की छतरी मिली थी। जिसके बाद डॉक्टर दीपक अमरापुरकर के मैनहोल में गिरने की आशंका लगाई जा रही थी।

Rahul Pandey

देखें कैसे ताश के पत्तों की तरह ढह गयी इमारत

Previous article

आफत की बारिश में बाद दिखा तबाही का मंजर, इस हाल में मिल रही हैं लाशें

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami