आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ 1 हजार धर्मगुरूओ ने पास किया रेस्यूल्यूशन

भारत का सबसे बड़ा दुश्मन और 26/11 आतंकी हमले का मास्टरमाईंड हाफिज सईद अब पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहा है। तो वहीं हाफिज के खिलाफ देश के 1 हजार से ज्यादा धार्मिक गुरुओं ने हाफिज के खिलाफ फतवा जारी करते हुए रेस्यूल्यूशन पारित किया है। अपने अपने हस्ताक्षार कर संयक्त राष्ट्र यानी की UN को खत लिखा है और मांग की है की, भारत व दुनिया में आतंक फैलाने वाले हाफिज सईद को कड़ी से कड़ी कार्रवाही की जाए। मुस्लिम धर्म गुरुओ ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए लिखा है कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा।  

आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ 1000 से ज्यादा मौलवियों ने फतवा जारी किया है। इन लोगों ने आतंकी सरगना को सजा देने की मांग की है। मुंबई के मदरसा दारुल उलूम अली हसन अहले सुन्नत और AR अंजारिया काउंटर टेररिष्म कमिटी के मुखिया ने यह लेटर लिखा है। मुस्लिम संगठनों ने यूएन के सुरक्षा परिषद की आतंक रोधी कमेटी को भेजा। इस पत्र में जमात—उद—दावा की निंदा की गई है। लेटर में लिखा गया है की  हाफिज सईद और 60 से ज्यादा आतंकी संगठन जो इस वक्त पाकिस्तान में बैठ अन्य देशो के खिलाफ आतंक की साजिश रच रहा है इस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए और इन सभी को जेल में डाला जाए 

लेटर की एक कॉपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  को भी भेजी गयी है। इस रेस्यूल्यूशन के मुताबिक़ पाकिस्तान से लगभग 60 आंतकी संगठन काम कर रहे हैं। इन संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। मदरसा दारुल उलूम अली हसन अहले सुन्नत ने पाकिस्तान के लोगों से भी अपील की ऐसे जिहादी को कभी सत्ता की कुर्सी पर न बैठने दे वर्ना यह आतंकी जितना बाहरी मुल्क के लिए खतरा होगा उतना ही पाकिस्तान की आवाम के लिए भी। जो मासूमो का क़त्ल कर खुद को रक्षक बताता है। वही यह भी कहा गया की हाफिज सईद युवाओं को हिंसा के प्रेरित करता है, हमें हाफिज सईद और उसकी विचारधारा रखने वाले अन्य पाकिस्तानी संगठन का विरोध करना होगा । 

121 धर्म गुरु के साथ 

वहीं इन सभी 1000 लोगो ने अपने दस्तखत में यह भी लिखा कश्मीर के लोग और कश्मीर हमारा है और रहेगा। पाकिस्तान अपने घर को तो संभाल नहीं पा रहा बंगलादेश को संभल नहीं सका वो कश्मीर को क्या ख़ाक संभालेगा।