Maharashtra/GoaMumbaiTop Stories

भीमा कोरेगाव हिंसा के विरोध में आज महाराष्ट्र बंद,मुंबई में रेलरोको

0

पुणे में भीमा कोरेगाव में हुए हिंसा के विरोध में आज दलित समुदाय के 250 संघटना ने महाराष्ट्र बंद का एलान किया है। बंद का महाराष्ट्र के कई ज़िलों में असर दिख रहा है। मुंबई, ठाणे , पुणे समेत महाराष्ट्र के कई ज़िलों में दलित समुदाय के लोग उग्र हो गए है। वही मुंबई में कई जगह आंदोलनकरियों ने रेल रोकने की कोशिश की है तो वही मुंबई में मेट्रो सेवा भी बाधित हुई है। घाटकोपर से एयरपोर्ट रोड तक मेट्रो सेवा ठप है।

हिंसा के विरोध में कल महाराष्ट्र बंद ,मुंबई में 100 से अधिक लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में

आंदोलनकारियों ने मुंबई में कई वाहनों से तोड़ फोड़ की है. मुंबई के विक्रोली, घाटकोपर समेत कई इलाकों में आंदोलनकारियों ने एक दर्जन से अधिक बेस्ट बसों को निशाना बनाया है। वही कई जगहों पर आंदोलनकरियों रास्ता रोको आंदोलन किया है। मुंबई वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे और ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर यातायात प्रभावित हुई है। मुंबई के घाटकोपर रेलवे स्टेशन पर दलित समुदाय के लोग पटरियों पर उतरकर रेल रोकने की कोशिश की है।

हिंसा पर आरएसएस का बयान

पुणे हिंसा पर राहुल गाँधी के आरोप के बाद संघ ने भी बयान दिया है। अपने बयान में संघ के प्रवक्ता मनमोहन वैद ने कहा है कि आरएसएस समाज को जोड़ने का काम करता है। कुछ लोग राजनितिक फायदे के लिए हिंसा का सहारा लेते है. कांग्रेस कि आदद है संघ पर आरोप लगाना। जब भी कभी इस तरह हिंसा कि वारदात होती है तो कांग्रेस हमेसा संघ पर ही निशाना साधता है।

कहा से शुरू हुआ विवाद

दरअसल पूरा झगड़ा 29 दिसंबर से शुरू हुआ था। 29 दिसंबर को पुणे के वडू गांव में दलित जाति के गोविंद महाराज की समाधि पर हमला हुआ था, जिसका आरोप मिलिंद एकबोटे के संगठन हिंदू एकता मोर्चा पर लगा और एफआईआर दर्ज हुई। एक जनवरी को दलित समाज के लोग पुणे के भीमा कोरेगांव में शौर्य दिवस मनाने इकट्ठा हुए और इसी दौरान सवर्णों और दलितों के बीच हिंसक झड़प हुई, जिसमें एक शख्स की जान चली गई और फिर हिंसा बढ़ती गई।

 

 

Rahul Pandey

हिंसा के विरोध में कल महाराष्ट्र बंद ,मुंबई में 100 से अधिक लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में

Previous article

महाराष्ट्र हिंसा पर विपक्ष का संसद में हंगामा कांग्रेस बोली जवाब दे प्रधानमंत्री

Next article

Comments

Comments are closed.

Close Bitnami banner
Bitnami