गोविंदा को बॉम्बे हाइकोर्ट से बड़ी राहत।

जब फिल्म छोटे सरकार के के गाने एक चुम्मा तू मुझको उधार दे दे के धुन पर अभिनेता गोविंद थिरक रहे होंगे तो उन्होंने ये सोंच भी नहीं होगा की उनकी फिल्म का यही गाना उनकी गिरफ्तारी की वजह बन जायेगी। 

अभिनेत्री शिल्प शेट्टी के लिए गाये गए गाने के बोल थे की एक चुम्मा के बदले वो पूरा यू पी बिहार दे देंगे। गाना तो हीट हो गया लेकिन यही गाना एक वकील के सेंटीमेंट्स को भी हिट कर गया। फिर क्या था वकील साहब अदालत जा पहुंचे और अदालत से गोविंदा, आनंद मिलिंद, अलका याग्निक और उदित नारायण के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग कर दी।

बीस साल तक तो कुछ नहीं हुआ लेकिन हाल में ही पाकुड़ की अदालत ने गोविंदा और बाकियो के खिलाफ पाकुड़ के कोर्ट ने 6 फरबरी 2017 को गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया था। 

वकील ने अपनी याचिका में आईपीसी की धारा 294,500 और 502 के तहत मामला दर्ज करने की मांग की थी।

लेकिन जब अदालत का वारंट लेकर जब मुंबई पुलिस की टीम गोविंदा के जुहू स्तिथ घर पहुची तो वहा मौजूद लोगों के होश उड़ गए। गोविंदा अपने आने वाली नयी फिल्म आ गया हीरो के प्रोमोशन में व्यस्त थे फिल्म कि रिलीज़ 16 मार्च को है।

जब गिरफ्तारी की तलवार लटकी तो गोविंद सब काम छोड़ बॉम्बे हाइकोर्ट भागे। जहाँ से उन्हें आज अग्रिम ज़मानत भी मिल गयी है और पाकुड़ के केस में पेश होने से 4 हफ्ते की छूट भी मिल गयी।

अदालत में गोविंदा के वकीलों ने बताया की उन्हें इस केस के बारे में पहले से कोई जानकार नहीं थी और ना ही उन्हें आजतक पाकुड़ के कोर्ट में पेश होने के लिए कोई सम्मन मिला है।

अब इस केस की अगली सुनवाई 6 मार्च को पाकुड़ कोर्ट में है।