Mumbai

इन्द्राणी का आरोप लाइट बंद कर की गई पिटाई

0

शीना बोरा हत्याकांड की आरोपी इन्द्राणी मुखर्जी ने कोर्ट में भायखला जेल के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाया है। इन्द्राणी ने आज कोर्ट में पेश हुई । कोर्ट में इन्द्राणी मुखर्जी ने जेल अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा की जेलर के आदेश के बाद जेल के महिला पुलिस और जेल के अन्य कर्मचारियों ने  रात को लाइट बंद कर के सभी महिला कैदियों की बेहरहमी से पिटाई करते है।

ये भी पढ़ें :

इन्द्राणी मुखर्जी ने दायर की सीबीआई कोर्ट में अर्जी

सीबीआई कोर्ट में इन्द्राणी ने कहा कि वो धमकी दे रहे है अगर नागपाड़ा पुलिस को हमारे खिलाफ बयान दिया तो महिला कैदी मंजुला से भी बुरा हाल तुम्हारा होगा। कोर्ट में जज को इन्द्राणी ने अपने सर, हाथ और पैर पर लगे चोटों को भी दिखाया और कहा कि जेल के अधिकारियों ने किस तरह मंजुला कि पिटाई कि वो मैंने देखा वहा पर मौजूद अन्य महिला कैदियों ने देखा कितनी बेहरहमी से मंजुला कि पिटाई करने के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में लाठी डाली गयी। वो इसलिए मुझे मार पिट रहे है कि मंजुला केस में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत गवाह नहीं बनु।

इस मामले में कोर्ट ने पुलिस से कहा कि उसे मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाए और बाद में शिकायत के लिए नागपाड़ा पुलिस स्टेशन लेकर जाए।

दरअसल कल सीबीआई कोर्ट में इन्द्राणी मुखर्जी ने एक अर्जी दायर की थी अर्जी में उसने कहा की महिला कैदी की पिटाई से हुई मौत के बाद वो नागपाड़ा पुलिस के सामने बयान देने के बाद जेल में उसे मारापीटा और प्रताड़ित किया गया।अर्जी में सीबीआई कोर्ट से अपील की थी जल्द से जल्द वारंट जारी कर उसे कोर्ट में पेश किया जाए ताकि जज अपने लगे चोटों को दिखा सके।  

93 मुंबई बम धमाकों में दोषी मुस्तफा डोसा की हार्ट अटैक आने से उसकी मौत हो गयी. दौसा नें रात में आर्थर रोड जेल अधिकारीयों को छाती में दर्द होने की शिकायत की थी। जिसके बाद उसे जेजे अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। मुंबई पुलिस के जॉइंट सीपी देवेन भारती में मुस्तफा डोसा की मौत की पुष्टि की है। दौसा की शिकायत के बाद उसे रात के एक बजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जंहा पर उसका इलाज चल रहा था। बता दे रात में जब मुस्तफा दौसा की तबियत बिगडनें की ख़बर मिलते ही मुंबई पुलिस के तमाम आला अधिकारीयों में भगदड़ मच गयी थी और देर रात ही मुंबई पुलिस के बड़े बड़े अधिकारी जेजे अस्पताल पहुँच गए थे। अब अस्पताल नें भी मौत की पुष्टी करते हुए बयान जारी किया है। बयान में कहा गया है की – जब मुस्तफा को लाया गया था तो उसे छाती में दर्द के इलावा हाइपरटेंशन और डायबिटीज की भी शिकायत थी। उसके हार्ट के वॉल्व में ब्लॉकेज का परेशानी थी, दौसा अपना बाईपास सर्जरी कराना चाहता था। उसने अपनी हार्ट प्रॉब्लम के बारे में स्पेशल टाडा कोर्ट को बता दिया था। इस मामले में दोषी था मुस्तफा: दौसा ब्लास्ट के लिए हथियार और विस्फोटक मंगवाने का मास्टरमाइंड है। वह रायगढ़ में हथियार लैंड करवाने और आरोपियों को ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजने और साजिश रचने का दोषी था।

Previous article

ठग्स ऑफ हिंदोस्तान` के लिए कान-नाक छिदवाना पड़ा आमिर खान को भारी, कई रात बिना सोए बिताई

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami