Mumbai

जेल में हो रहा है महिला कर्मचारियों का यौन शोषण

0

क्या जेल में तैनात बड़े अधिकारी अपने पद का गलत इस्तमाल कर रहे है? क्या महाराष्ट्र के जेल अब अयाशी के अड्डे बन गए है? जेल के अधिकारी, जेल में  तैनात महिला कर्मचारियों के साथ यौन शोषण कर रहे है? ये सनसनीखेज खुलासा यवतमाल जेल में तैनात महिला कर्मचारी ने पत्र लिखकर की है। 

यवतमाल जेल की महिला कर्मचारी ने शिवसेना नेता नीलम गोर्हे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की नेता चित्रा वाघ को एक पत्र लिखा है। जिसमे इस बात का जिक्र किया है कि महाराष्ट्र के जेलों में तैनात बड़े अधिकारी महिला कर्मचारी से यौन शोषण करते है। आरोप लगाया गया है कि अधिकारी उनके मजबूरी का फायदा उठाकर उनसे जबरन शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए दबाव डालते हैं। पत्र में महिला कर्मचारी ने दावा किया है,अबतक महाराष्ट्र के जेलों में 60 से 70 महिलाओं का यौन शोषण किया गया है।

Image result for Neelam Gorhe

इसके साथ पत्र में महिला कर्मचारी ने अपने ऊपर हुए अत्याचार का भी जिक्र किया है.पत्र में महिला ने यवतमाल जेल के उप महानिरीक्षक पर सनसनी खेज आरोप लगते हुए कहा है कि, मेरा विधवा होने का फायदा उठाकर जेल के उपमहानिरीक्षक हर बार उनके काम में कोई न कोई गलतियां निकालकर उससे शारीरिक सम्बन्ध बनने पर मजबूर करता है। मेरा यौन शोषण करने वाले जेल उप महानिरीक्षक का जब पुणे के येरवडा जेल से नागपुर जेल में तबादला हुआ। तो उसने मेरा भी तबादला अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर नागपुर जेल में करा दिया। यहां उसने मुझे पत्नी की तरह रखा और रोज़ाना मेरे साथ जबरन  शारीरिक संबंध बनाने लगा। इस दौरान उसने अपनी कैंसर पीड़ित पत्नी की मौत होने पर शादी करने का भी वादा किया था। हालांकि बाद में मुझे पता चला कि इस अधिकारी ने मेरी तरह जेल की करीब 60 से 70 महिला कर्मचारियों के साथ भी इसी तरह से शारीरिक संबंध बनाये हैं। जेलों में महिला कर्मचारी से यौन शोषण का ये खेल पुणे के येरवडा जेल से शुरू हुआ और नागपुर जेल तक चला है। 

पत्र मिलने के बाद दोनों नेता नीलम गोर्हे और चित्रा वाघ ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है। इसके साथ मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से जेलों में हो रहे महिला कर्मचारियों के साथ अत्याचार कि जांच कराने की मांग है। 

इस पत्र में महिला कर्मचारी ने उन तमाम महिलाओं नाम और उनके पद का भी जिक्र किया है। जो इस काली करतूत की शिकार की शिकार हुई है।और अलग अलग अधिकारियों का भी जिक्र किया है जो महिलाओं का यौन शोषण किया है।

मुंबई में सोशल वर्कर का दावा घोटाला छुपाने के लिए ने बिल्डर ने दिए 11 करोड़ की रिश्वत

Previous article

आखिर क्यों एक कॉल के बाद यहां वहाँ भागने लगी मुंबई पुलिस

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami