मुंबई हुस्सैनी बिल्डिंग हादसा 34 लोगों की मौत, राहत और बचाव कार्य रोका गया

मुंबई के भायखला पाकमो़डिया स्ट्रीट पर हुए बिल्डिंग दर्घटना में मौत का आंकड़ा 34 पहुँच गया है। रेस्क्यू टीम ने मलबे के अंदर से 51 लोगों को बाहर निकाला है। जिसमे से कई लोग घायल है। घायलों में भी कई लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिनका इलाज पास के ही जेजे अस्पताल में चल रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन बंद कर दिया है।

गुरुवार की सुबह करीब 8 बजकर 40 मिनट पर मुंबई के भायखला में पाकमो़डिया स्थित 5 मंजिला हुस्सैनी बिल्डिंग जमींदोज़ हो गई थी। हुस्सैनी बिल्डिंग 117 साल पुरानी बिल्डिंग बताई जा रही थी। बताया ये भी जा रहा है की जिस वक़्त ये हादसा हुआ उस समय इमारत में 15 से 20 परिवार रह रहे थे। इस हादसे में रेस्क्यू कर रहे फायर ब्रिगेड 6 जवान भी घायल हो गए। स्थानीय लोगों के मुताबिक इमारत को खाली करने का नोटिस भी दे दिया गया था। कुछ लोगों ने खाली कर दिया था। लेकिन जिनके पास इसके अलावा कोई और सहारा नहीं था। उनलोगों ने खाली नहीं किया। 5 मंजिला इस इमारत में ऊपर के दो माहलों पर कोई नहीं रहता था और बताया ये भी जा रहा है कि ऊपर के दो माहलों को गैर कानूनी ढंग से बनाया गया था।

मृतक के परिवार वालों को पांच लाख रूपए

हादसे के बाद कल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घटनास्थल का द्वारा किया और मृतक के परिवार वालों को अपनी सहानुभूति भी दी। फडणवीस ने कहा कि मृतक के परिवार वालों को सरकार ५ लाख रूपए देगी। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जांच के आदेश भी दे दिए है और कहा कि जो कोई भी होगा उसे बक्शा नहीं जाएगा। दोषियों पर कठोर से कठोर कार्यवाही कि जाएगी।

हादसे में बाल बाल बचा था अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद का परिवार 

जिस जगह पर ये हादसा हुआ था वहाँ से पांच चार से पांच बिल्डिंग छोड़कर मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम का घर है। दाऊद इब्राहिम का भाई इक़बाल कासकर और उसका परिवार भी हुस्सैनी बिल्डिंग में ही रहता था। हुस्सैनी बिल्डिंग दो हिसों में थी। जिस हिस्से दाऊद के भाई का परिवार रहता था बिल्डिंग का वो हिस्सा गिरते गिरते बच गया था।