स्काइप कॉल के जरिए दाऊद से इक़बाल कासकर करता था बात

इक़बाल कासकर के गिरफ्तारी के बाद दाऊद के बारे में उसका भाई इक़बाल कासकर नए खुलासे करता जा रहा है। पुलिस के पूछताछ में पहले तो कासकर ने कहा कि दाऊद भारत मे पिछले तीन सालों से फ़ोन नही किया है और ना ही उसने अपने किसी एजेंट और ना ही परिवार के किसी सदस्य से बात की है। कासकर की माने तो दाऊद को भारत मे फ़ोन करने से डर लगता है उसे डर इस बात का सताता था कि कही उसका फ़ोन टैपिंग ना हो उसे भी दाऊद से बात किए 3 साल से अधिक समय बीत चुका है। लेकिन पुलिस की माने तो इक़बाल कासकर 2016 में दाऊद से स्काइप कॉल के जरिये बात की थी। अबतक इक़बाल ने दाऊद से चार से पांच बार बात कर चुका है।

जानकारी के मुताबिक इक़बाल कासकर मुंबई में अकेला रहता है। उसकी पत्नी और दो बच्चे दुबई में रहते है। वहां पर दाऊद ने इक़बाल कासकर की बीवी और बच्चों के लिए कम्प्यूटर स्पेयर पार्ट्स सप्लाई का बिज़नेस चालू करके दिया है। जिसे ये लोग संभाल रहे है। सूत्रों की माने तो दाऊद दुबई में इक़बाल के परिवार वालों से फ़ोन के जरिये संपर्क में रहता है और उनसे मुंबई का हाल समाचार लेता रहता है।जानकारी के मुताबिक जाच एजेंसियां को शक है कि हसीना पारकर की मौत के बाद इक़बाल कासकर ने एक्सटॉर्शन के बिज़नेस को चलाना शुरू किया और एक्सटॉर्शन मनी को हवाला के जरिए दुबई में पंप किया जाता था जहाँ इक़बाल कासकर की पत्नी अंडरवर्ल्ड के पूरे एकाउंट का लेखा जोखा रखती है।

जानकारी के अनुसार मुंबई में इक़बाल कासकर के नामपर सिर्फ और सिर्फ एक कॉपरेटिव बैंक में बैंक एकाउंट है जिसमे ट्रांसेक्शन के तौर पर केवल दुकान और घर के भाड़े की रकम ही डिपॉजिट होती और निकाली जाती थी। कासकर को के बात मालूम थी कि अगर उसके अकॉउंट से किसी भी तरह का ट्रांजेक्शन होता है तो वो संदेह के घेरे में आ सकता है।