वंदेमातरम को लेकर भीड़े शिवसेना-बीजेपी और एआईएमआईएम के नगर सेवक

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में आज  ‘वंदे मातरम्’ गाने को लेकर शिवसेना और एआईएमआईएम के नगर सेवक सदन में आपस में भीड़ गए। बात इतनी बढ़ गई नौबत हांथापाई और तोड़ फोड़ तक जा पहुंची  फिर किसी तरह पुलिस ने पहुंचकर मामला शांत कराया। इस बीच दोनों पक्षों के बीच घंटो तक एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी भी हुई।

इस पूरे विवाद की शुरुआत तब हुई जब आज सुबह औरंगाबाद नगरनिगम की शुरुआत ‘वंदे-मातरम’ गाने के साथ शुरू की गई। जैसे ही वंदे मातरम बजा विपक्षी पार्टी कांग्रेस और एआईएमआईएम के नगरसेवकों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। वो वंदेमातरम बंद करने की मांग करने लगे। विपक्ष का विरोध देखते हुए सत्ता में बैठी शिवसेना और बीजेपी के नगरसेवक उठकर वंदे मातरम के समर्थन में नारेबाजी करने लगे। बीजेपी और शिवसेना के नगरसेवक विपक्ष के सामने खड़े होकर विरोध में  ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाने लगे।

इसी बीच एआईएमआईएम के लोग उनसे भीड़ गए और दोनों तरफ से हांथापाई होने लगी। हालत बिगड़ता देख मेयर ने तुरंत सदन की कार्यवाही को रोकने का आदेश सुनाया। फिर भी मामला शांत नहीं हुआ और दोनों पक्षों की तरफ से धक्का-मुक्की शुरू हो गई। शिवसेना का आरोप है कि एमआईएम पार्षदों ने पहले इसकी शुरुआत की थी और उन्होंने ही सदन में लगे फैन और माइक तोड़ डाले।

जब मामला शांत नहीं हुआ तो सुरक्षाकर्मियों को बीच में आना पड़ा और हंगामा कर रहे नगरसेवकों को जबरदस्ती सदन से बाहर निकाला। इसके बाद एमआईएम के दो नगरसेवक सय्यद मतीन और शेख ज़फर के इलावा कांग्रेस के एक सदस्य सोहेल शेख को तीन दिनों के लिए निलंबित कर दिया गया है।

 


Close Bitnami banner
Bitnami