Politics

700 कंपनियों ने किया भुजबल का काल धन सफ़ेद

0

महाराष्ट्र के कद्दावर नेता और महाराष्ट्र के पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री छगन भुजबल की मुश्किलें काम होने का नाम नहीं ले रही है. आज प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी के अफसरों ने मुंबई में भुजबल के लिए कालेधन को सफेद करने वाली 700 कंपनियों पर एक एक साथ छापेमारी कई फ़र्ज़ी कंपनियों का पर्दाफाश किया है. इन फ़र्ज़ी कागज़ी कंपनियों में फर्जी निदेशकों की नियुक्ति का भी खुलासा हुआ है.

छगन भुजबल मामले की जांच कर रही ईडी की टीम ने इससे पूर्व में मुंबई में कई ठिकानों पर छापेमारी की थी. इन छापों में कई ऐसे दस्तावेज़ सामने आये थे जिससे इन फ़र्ज़ी कंपनियों को पूरा जाल सामने आया था .छापों में मिले दस्तावेज़ के बाद ही परिवर्तन निदेशालय ने देशव्यापी अभियान के तहत मुंबई सहित कई शहरों में फिर से छापे की कार्रवाई को अंजाम देते हुए ईडी ने कई ऑपरेटरों के साथ-साथ 20 डमी डायरेक्टर भी बेनकाब किए हैं.

ईडी के अब तक की जांच में सामने आया है की इन 700 शेल कंपनियों ने छगन भुजबल के लिए 46.7 करोड़ रुपये की रकम को सफेद किया था. फ़िलहाल ईडी इन सभी कंपनियों की गहनता से जांच में जुटी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश के बाद ही सरकार ने देश भर में आपरेशन ब्लैकमनी शुरू किया है. जिसके तहत प्रवर्तन निदेशालय  ने  देशभर में एक साथ तीन सौ से ज्यादा स्थानों पर छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया है. प्रवर्तन निदेशालय के ये छापे दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बंगलुरु, भुवनेश्वर और कोलकाता जैसे बड़े शहरों मारे जा रहे हैं.

अगर प्रवर्तन निदेशालय  ने अफसरों की मानिए तो ईडी की टीम उन फर्जी कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही हैं, जिनका संबंध कालेधन को सफेद करने से था. सूत्रों के मुताबिक ऐसी तकरीबन तीन सौ कंपनिया ईडी के निशाने पर हैं, जिन्होंने सौ करोड़ से ज्यादा कालेधन को सफेद किया है.

Rahul Pandey

नोटबंदी का अब तक का सबसे बड़ा खुलासा।

Previous article

यात्रियों ने लूट लिया स्टेशन मूकदर्शक बनी रही पुलिस

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami