Politics

मुंबई कांग्रेस में ज़बरदस्त घमासान।

0

बीएमसी चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद जो कलह मची है वो थमने का नाम नहीं ले रही। पूर्व सांसद गुरुदास कामत तो संजय निरुपम के खिलाफ तो खड़े हैं ही अब इस लिस्ट में कई और नेताओं के नाम भी जुड़ गए हैं।

सुत्रों के मुताबिक,गुरुदास कामत के बाद नारायण राणे, नसीम खान ने संजय निरुपम के खिलाफ हाई कमान  ​ के शिकायत की। इन्होने आरोप लगाया की, संजय निरुपम ने बीएमसी के टिकट बंटवारे में बडी धांधली की। ज़्यादा वैसे चेहरों को दरकिनार किया जो जीतने वालों में थे।  सिर्फ उनको चुना गया जो हमेशा निरुपम की जी हज़ूरी में लगे थे । इतना ही नहीं जिन्हें टिकट दिया भी गया उन्हें  चुनाव के वक्त उम्मीदवारों को मदद नहीं की गयी ।

इन नेताओं का आरोप है पार्टी की करारी हार के बाद अबतक समीक्षा बैठक भी नहीं बुलाया हैं जबकी हर ज़िला में अपनी अपनी समीक्षा बैठक हो चुकी है ।

निरुपम का ना सिर्फ इस्तीफा मंजूर करने बल्कि उनके खिलाफ कडी कारवाई करने की भी मांग की ।

इतना ही नहीं अगर सूत्रों की मानें तो, पांच ऐसे उम्मीदवारों ने पार्टी है कमान से ये तक शिकायत की है की टिकट के बदले पैसों का खेल खेल गया। उन्हें ही तरजीह मिली जो जिन्होंने पैसे भरने की हामी भरी ।

फिलहाल हायकमांड ने निरुपम पर कोई फैसला नहीं लिया है । 11 मार्च को पाच राज्यों के चुनाव नतीजें आने के बाद निरुपम के भविष्य पर हाईकमान  फैसला ले सकती है ।

मिलिंद देवरा , प्रिया दत्त, कृपाशंकर सिंह भी संजय निरुपम से नाराज हैं।

वहीं निरुपम खेमा कामत के खिलाफ लामबंद हो गया हैं और बीएमसी में कॉग्रेस की हार के लिये कामत गुट पर कारवाई करने की मांग कर रहा हैं।

बीएमसी चुनाव में कांग्रेस की सीटें 52 से घटकर 31 हो गई। कांग्रेस को हुए 21 सीटों के नुकसान के पीछे पार्टी की आपसी कलह मुख्य वजह बताई जा रही है। चुनाव के पहले से कांग्रेसी नेताओं के मतभेद खुलकर सामने आने लगे थे। मामला, राहुल गांधी तक पहुंचा, लेकिन वह नेताओं को एक करने में विफल साबित हुए। पूरे चुनाव में संसाधन विहीन कांग्रेस खुद

गलत ट्वीट ने बदली इंस्पेक्टर की किस्मत

Previous article

माँ का आरोप स्कूल ने मेरे बेटे को मार डाला

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami