अगर बीजेपी को रोकना है तो कांग्रेस के पास गठबंधन के अलावा नहीं है कोई विकल्प: शरद पवार

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस को दो टूक कह दिया है की कांग्रेस अब ‘‘कमजोर’’ हो गयी है और उसके पास बीजेपी की विशाल चुनावी जीत को रोकने के लिए क्षेत्रीय दलों से गठबंधन करने के अलावा ‘‘अन्य कोई विकल्प नहीं’’ बचा है. अगर बड़े स्तर पर गठबंधन नहीं होता है तो तो कांग्रेस और भी धरातल में चली जायेगी.

शरद पवार ने ये बात अपनी आत्म कथा के विमोचन के दौरान कही, जिस वक़्त पवार अपनी बात कह रहे थे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद समेत कई विपक्षी नेता वहां मौजूद थे.

शरद पवार ने लिखा है की,‘‘आज के मौजूदा राजनीतिक स्थिति को देखते हुये कभी राष्ट्रीय पार्टी रही कांग्रेस के लिए बड़े स्तर पर बीजेपी के विकल्प के रूप में उभरने का काम बेहद चुनौतीपूर्ण दिख रहा है. फिलहाल कांग्रेस के पास बीजेपी को रोकने के छोटी और क्षेत्रीय पार्टियों से हाथ मिलाने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है.’’

अगर कांग्रेस ऐसा गठबंधन करना चाहती है तो उसे अपने सहयोगी दलों पर पूरा भरोसा जताना होगा जैसा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार ने दिखाया था.

शरद पवार के मुताबिक़,  ‘‘पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने एक दशक लंबे यूपीए सरकार के दौरान ऐसी क्षमता दिखायी थी लेकिन हमें ये याद रखने की ज़रुरत है की पहले यानी यूपीए के दिनों के मुकाबले कांग्रेस आज कमजोर हो गई है.’’ पवार ने जो बातें कहीं है वही बातें पूर्व में भी कई विपक्षी नेताओं ने भी कहा है. इससे पहले जेडीयू और वाम दलों समेत कई विपक्षी नेताओं ने बीजेपी को रोकने के लिए ‘‘विपक्षी एकता’’ का आह्वान किया था.

ये तमाम बातें महाराष्ट्र के कद्दावर नेता शरद पवार ने अपनी शर्तों पर: जमीनी हकीकत से सत्ता के गलियारों तक’ में यह बात कही जो ‘ऑन माई टर्म्स: फ्रोम द ग्रासरूट टू द कोरिडोर्स ऑफ पावर’ का हिंदी अनुवाद है.