नाराज उद्धव को मनाने में जुटी बीजेपी, खुद अमित शाह ने किया फोन

बीजेपी से नाराज़ चल रहे शिवसेना प्रमुख राष्ट्रपति चुनाव से पहले मनाने की कवायद शुरू हो गयी है. शिवसेना प्रमुख को मनाने की लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके हनुमान और संकटमोचक कहे जाने वाले पार्टी अध्यक्ष को इसकी ज़िम्मेदारी सौंपी है. प्रधानमंत्री कतई नहीं चाहते की राष्ट्रपति चुनाव से पहले कहीं भी कोई समीकरण बिगड़े.

सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री से हरी झंडी मिलते ही खुद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को फोन किया. इस बातचीत में सांसद रविंद्र गायकवाड़ के मुद्दे पर भी चर्चा हुई. पार्टी सूत्रों की मानें तो अमित शाह ने उद्धव को भरोसा दिलाया है की बीजेपी पहले भी साथ थी और आगे शिवसेना का ज़रुरत पड़ने पर साथ देगी.  साथ ही उन्होंने उद्धव ठाकरे को 10 अप्रैल को होने वाली एनडीए की बैठक का न्योता भी दिया. एनडीए की ये ख़ास बैठक 10 अप्रैल को दिल्ली में होनी है.

सूत्रों की मानें तो इस बैठक की असली वजह है आने वाले दिनों में राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव. सूत्र बाटते हैं की इस बैठक में ही खुद प्रधानमंत्री अपने सहयोगी दलों के साथ इसके मद्देनजर राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के नाम को लेकर भी चर्चा भी कर सकते है. राष्ट्रपति के उम्मीदवार की रेस में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनहोर जोशी, प्रकाश सिंह बादल, पूर्व चीफ़ जस्टिस सदाशिवम के नाम है.

उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार की रेस में सुषमा स्वराज, थावर चन्द गहलोत, नजमा हेपतुल्ला, हुकुमदेव सिंह यादव के नाम हैं, इसके अलावा घटक दलों के द्वारा सुझाए गए नामों पर भी चर्चा हो सकती है.

लेकिन पिछले कई दिनों से अलग अलग मुद्दों पर लगातार शिवसेना अपने सहयोगी बीजेपी के प्रति काफी आक्रामक रही है . ऐसे में अगर वो एनडीए के उम्मीदवार के साथ कड़ी नहीं होती है तो मामला बिगड़ सकता है. यही वजह है की फिलहाल बीजेपी सामने से ही शिवसेना के आगे थोड़ा सॉफ्ट रहना चाहती है. इससे पहले शिवसेना ने कहा था कि अगर रवींद्र गायकवाड की हवाई यात्रा से पाबंदी नहीं हटी तो वो इस बैठक का बहिष्कार करेगी. पार्टी ने मुंबई से एअर इंडिया की उड़ानों को बाधित करने की भी धमकी दी थी.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने एनडीए के नेताओं की बैठक 10 अप्रैल को शाम 6 बजे प्रवासी भवन चाणक्य पूरी बुलाई है. बताया जा रहा है की बैठक में उद्धव ठाकरे, चंद्र बाबू नायडू, प्रकाश सिंह बादल, रामविलास पासवान, अनुप्रिया पटेल, उपेन्द्र कुशवाह, रामदास अठावले समेत एनडीए के सभी घटक दलों के नेताओं को अमित शाह ने फ़ोन करके निमंत्रण दिया है.