ढाया जाए देश के विभाजन की निशानी ! जिन्ना हाउस

भाजपा विधयक मंगल प्रताप लोढा ने मलबार हिल स्थित जिन्ना हाउस को ध्वस्त कर वहां कल्चरल सेंटर बनाने की मांग की है।  अब बीजेपी के विधायक की मांग पर राष्ट्रवादी कांग्रेस ने भी समर्थन करते हुए कहा है की,ये देश के विभाजन का प्रतिक है और भारत के तीन टुकड़े करने का षडयंत्र जिन्ना हाउस में रचा गया।

बीजेपी MLA  की मांग, ध्वस्त हो देश विभाजन की निशानी जिन्ना हाऊस

विधान सभा सत्र में सार्वजनिक निर्माण विभाग की अनुदान मांगों पर बोलते हुए बीजेपी विधायक मंगल प्रताप लोढा ने कहा कि जिन्ना हाउस की देखभाल पीडब्ल्यूडी विभाग के जिम्मे है, और जिन्ना हाउस के रखरखाव पर हर साल लाखों रुपए खर्च होते हैं। अब शत्रु संपत्ति कानून संसद में पारित हो जाने के बाद जिन्ना के वारिसों का इस संपत्ति पर कोई कानूनी अधिकार नहीं है।

विधायक लोढा ने सरकार से कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना के वारिसों के नाम पर भारत में उनके नाती वाडिया परिवार द्वारा जिन्ना हाउस पर अब अपना कब्जा बताने का कानूनी औचित्य ही नहीं हैं। इस स्थान पर कल्चरल सेंटर स्थापित किया जाए। इस कल्चरल सेंटर में भारत के उज्जवल इतिहास एवं संस्कृति की प्रदर्शनी लगे।

आपको बता दें कि शत्रु संपत्ति कानून के तहत अब जो लोग भारत के विभाजन के समय पकिस्तान चले गए, उनकी यहां की संपत्ति में उनका या उनके वारिसों का कोई हक नहीं है। इस बारे में हाल ही में संसद में कानून बनाया गया है।

 


Close Bitnami banner
Bitnami