मालेगांव नगर निगम जीतने के लिए बीजेपी को मुसलमानों का सहारा

आख़िरकार बीजेपी को आगामी नगर निगम चुनाव जीतने के लिए मुस्लिमों पर ही भरोसा करना पड़ा है। जल्द ही महाराष्ट्र के मालेगांव में नगर निगम चुनाव होना है और इसे जीतने के लिए पार्टी हर तिकड़म अपना रही है। बीजेपी ने मालेगांव नगर निगम में अभी तक के सबसे ज्यादा मुस्लिम उम्मीदवार खड़े किए हैं। बीजेपी मालेगांव नगर निगम की 84 सीटों में से BJP ने 77 पर उम्मीदवारों को खड़ा किया है जिनमें सबसे ज़्यादा 45 मुस्लिम हैं। अब तक बीजेपी ने किसी भी चुनाव में एक साथ इतने मुस्लिम उम्मीदवार खड़े नहीं किए हैं।

जानकारों की मानें, तो मुस्लिम बहुल इलाके में अपनी पैठ साबित करने के लिए बीजेपी ने ये कार्ड खेला है। उनके नेताओं की मानें पूरे देश भर में इन दिनों मोदी लहर है और अब मुसलमानों को भी बीजेपी और प्रधानमंत्री पर भरोसा होने लगा है। यही वजह है की इस बार इतनी बड़ी संख्या में मुल्सिम उम्मीदवारों को मौका दिया गया है। और उन्हें पूरी उम्मीद है की मालेगांव नगर निगम में इस बार सबसे ज़्यादा बीजेपी के प्रत्याशी चुनकर आएंगे।

वहीँ अब तक मालेगांव में सबसे बड़ी पार्टी माने जाने वाली कांग्रेस ने भी 73 उम्मीदवारों को टिकट दिया है। कांग्रेस नेता भी इस बार चुनाव में क्लीन स्वीप का दावा कर रही है। एनसीपी-जनता दल ने गठबंधन बनाकर 66 उम्मीदवारों को खड़ा किया है।

तो वहीँ कांग्रेस के लिए इस बार भी असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल-इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) एक बड़ी चुनैती है। हाल के दिनों में जिस तरह से उनका प्रदर्शन रहा है उससे एक बात तो साफ़ है की इस बार भी वो कांग्रेस का एक बाद वोट प्रतिशत काटने वाली है। ऑल-इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन ने पहली बार मालेगांव के चुनाव में उतर रही है और पार्टी ने यहां उसके 37 उम्मीदवार उतारे हैं। तो शिव सेना भी  25 उम्मीदवारों के साथ मैदान में होगी।


Close Bitnami banner
Bitnami