महाराष्ट्र में इतिहास के किताब से हटाया गया मुगलों का इतिहास

स्कूलों में अब बच्चों को मुग़ल शासनकाल के बारे में नहीं पढ़ाया जाएगा। क्यूंकि महाराष्ट्र सरकार ने इतिहास के पुस्तकों के नए पाठ्यक्रम से मुगलों का इतिहास ही गायब कर दिया है। सरकार ने स्कूलों में सातवीं और नौंवीं कक्षा के इतिहास कि पुस्तक से मुगलों का इतिहास गायब किया है। सरकार ने पुस्तक से मुग़ल इतिहास को हटाकर मराठा इतिहास पर जोर दिया है। जिसपर विपक्ष ने कड़ी आपत्ति जताई है।

महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड द्वारा लाए गए नए पाठ्यक्रम नौंवीं कक्षा के इतिहास कि किताब में बोफोर्स घोटाला और 1975 में लगे इमरजेंसी का जिक्र किया गया है। सरकार का कहना है कि अब बच्चों को मॉडर्न इतिहास के बारे में बताना जरुरी है। वही विधानसभा में कांग्रेस के नेता नसीम खान ने सरकार के इस निर्णय पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि , बीजेपी सरकार  मुगलों का इतिहास हटाकर भगवाकरण करना चाहती है। बिना मुगलों के इतिहास से भारत पुरा नहीं हो सकता है। तो वही राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक जीतेन्द्र अव्हाड ने सरकार पर तंज कस्ते हुए कहा है कि पुस्तक से मुगलों का इतिहास गायब करना पागलपन है आप शिवाजी को हिरो तब दिखा सकते हो जब औरंगज़ेब होगा।

वही इतिहास विषय के कमिटी के सदस्य बापूसाहेब शिंदे ने बताया है कि पिछले साल नए पाठ्यक्रम को लेकर महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े के साथ रामभाऊ म्हालगी प्रबोधिनी में मीटिंग हुई थी। जिसमे उन्होंने कहा गया था कि बच्चों को मॉडर्न इतिहास के बारे में बताना जरुरी है,और आने वाले नयी पुस्तक में अब मुगलों के इतिहास को काम किया जाए।


Close Bitnami banner
Bitnami