विपक्ष का किसानों की कर्जमाफी के लिए आज से संघर्ष यात्रा

फडणवीस सरकार को घेरने के लिए पूरा विपक्ष लामबंद हो गया है। विपक्ष का दावा है की इस सरकार के खिलाफ पूर्ण विपक्ष नए नारे और नयी ताकत के साथ एकजुट हुआ है। इसी लिए इसे संघर्ष यात्रा का नाम दिया गया है। संघर्ष यात्रा का मकसद है किसानों का क़र्ज़ माफ़ किया जाए। इसी लिए आज से किसानों के कर्ज माफी को लेकर विरोधी दल की संघर्ष यात्रा चंद्रपुर से शुरू हो रही है, जो में खत्म होगी। ये संघर्ष यात्रा इस दरमियान 16 जिलों से निकलेगी।

यही वजह है की इस संघर्ष यात्रा को सफल बनाने के लिए कांग्रेस-एनसीपी और समाजवादी पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है। शेतकरी कामगार पार्टी, पीपल्स रिपब्लिकन पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट दल, समाजवादी पार्टी, एआईएमआईएम, जनता दल (संयुक्त) समेत लगभग तमाम विरोधी दल के विधायक व पार्टी पदाधिकारी संघर्ष यात्रा में शामिल हो रहे हैं।

Image result for Sangharsh Yatra Maharashtra

लेकिन इस यात्रा में बिखराव भी साफ़ नज़र आ रहा है, सरकार को घेरने में एक बार फिर इन पार्टीयों के बड़े नेता इस यात्रा को तवज्जो ही नहीं दे रहे हैं । यहाँ तक की कांग्रेस ये बताने की स्तिथि में भी नहीं की उनके युवा नेता राहुल गांधी इसमें शामिल होंगे कि नहीं । वहीँ एनसीपी नेता शरद पवार के भी संघर्ष यात्रा में शामिल होने की उम्मीद कम ही है। लेकिन समाजवादी पार्टी ये दावा ज़रूर कर रही है की,समाजवादी पार्टी की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भी लाएंगे।

Image result for Sangharsh Yatra Maharashtra

विपक्ष के किसानों के कर्ज माफी की मांग को लेकर  बजट सत्र नहीं चल पा रहा है। विरोधी दल तो आक्रामक हैं ही इस मुद्दे पर सरकार में शामिल शिवसेना भी रह-रहकर उग्र हो रही है। इसी बीच सरकार ने विपक्ष के 19 सदस्यों को 9 महीने के लिए निलंबित कर दिया। इससे विपक्ष का पारा और चढ़ गया है। वो सरकार को तालिबानी बता रही है , विपक्ष की तरफ से सरकार के खिलाफ और भी उग्र विरोध प्रदर्शन शुरू किया। विपक्ष ने इस लड़ाई को सदन से सड़क तक ले जाने का निर्णय लिया।