पत्रकार ने राहुल गाँधी के साथ डाली तस्वीर तो धमकाने लगे बीजेपी नेता,पत्रकारों को कहा वैश्या

सत्ता के घमंड में चूर भारतीय जनता पार्टी को लगता है की इन दिनों मीडिया और पत्रकारों को अपना गुलाम समझने लगी है। शायद वो ये चाहती है कि,  मीडिया और पत्रकार बस वही करें जो वो कराना चाहती है। इसका ताजा उदहारण मुंबई के वरिष्ठ पत्रकार विनोद जगदाले है। विनोद जगदाले हाल में ही गुजरात कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी कि नवसर्जन यात्रा कवर करने गए थे। इसी बीच एक इंटरव्यू के दौरान उनकी राहुल से मुलकात हुई। दोनों के बीच काफी बातें हुई और फिर राहुल के साथ पत्रकार विनोद जगदाले ने एक सेल्फी निकाली थी। बाद में उन्होंने ये उस सेल्फी को जगदाले ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किया था। बस यही बात बीजेपी नेता को इस क़दर बुरा लगी की उन्होंने पत्रकारों कि तुलना वैश्याओं से करने लगे।

एक न्यूज़ चैनल के वरिष्ठ पत्रकार विनोद जगदाले ने इस अनुभव को सोशल मीडिया साइट पर खुद साझा किया। जिसमे जगदाले ने लिखा है कि क्या आज पत्रकार गुलाम हो गए हैं। उन्हें अपनी बात रखने या किसी के साथ तस्वीर खींचने के लिए सत्ता में बैठे लोगों से इजाज़त लेनी पड़ेगी। क्या वो किसी विपक्षी नेता के साथ तस्वीर नहीं निकल सकते हैं। तो फिर पत्रकारों की तुलना वैश्याओं से क्यों की जा रही है।

दरअसल जगदाले का राहुल गाँधी के साथ फेसबुक पेज पर फोटो पोस्ट करना भाजपा नेताओं को रास नहीं आया। मुंबई भाजपा के दक्षिण मध्य के सेक्रेटरी राजेश शिरवडकर फेसबुक पर वरिष्ठ पत्रकार विनोद जगदाले का राहुल गाँधी के साथ फोटो देख आग बबूला हो गए और उस फोटो पर अश्लील भाषा का इस्तेमाल करने लगे। फोटो पर कमेंट करते हुए भाजपा नेता ने लिखा कि हम आज के पत्रकारों से क्या अपेक्षा रख सकते है,आज के पत्रकारों से तो वैश्या भली है।

बीजेपी नेता राजेश शिरवडकर शायद ये भूल गए हैं की विनोद जगदाले करीब पंद्रह साल से पत्रकारिता कर रहे हैं। वो देश के एक बड़े चैनल के ब्यूरो चीफ हैं। अपने पंद्रह साल से ज़्यादा के कार्यकाल में उन्होंने हर राजीनीतिक पार्टी को कवर किया है। लेकिन कभी उन पर किसी पार्टी से जुड़े होने का आरोप नहीं लगा है। खुद सूबे के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी उन्हें बेहतरीन पत्रकार मानते हैं।


Close Bitnami banner
Bitnami