उद्धव ठाकरे की मांग, प्रधानमंत्री की रैली पर लगे प्रतिबंध!

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने चुनाव आयोग से मांग की है कि प्रधानमंत्री की रैली पर प्रतिबंध लगे. चुनाव आयोग से मांग करते हुए कहा है की, सभी राजनितिक पार्टियों को एक समान अवसर मिले और इसके लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों को चुनाव रैली करने से प्रतिबंधित की जाए.

उद्धव ठाकरे ने पनवेल नगर निगम चुनाव के दौरान एक रैली को सम्बोधित करते हुए ये बातें कहीं. ठाकरे ने कहा, ऊँची कुर्सियों पर बैठे हुए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री रैलियों में जा जा कर वादों की झड़ी लगा देते हैं. जिससे जनता भ्रमित हो जाती है, उन्हें अन्य पार्टियों के नेताओं के दिए आश्वासन की तुलना में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की कही वादे ज़्यादा असर डालती है.’

उद्धव ने कहा की ये रैलियों में किये चुनावी वादे कभी पूरे नहीं होते . उद्धव ने याद दिलाते हुए कहा की, कल्याण-डोंबिवली नगर निगम के चुनाव के दौरान भी ऐसे कई लुभावने वादे किये गए थे जो आज तक पूरे नहीं हुए. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडवणीस ने 6,500 करोड़ रुपये और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के लिए 1.25 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की थी, लेकिन चुनावों के बाद एक भी रुपया नहीं दिया गया.