0

पुणे: महाराष्ट्र में पुणे जिले के शहरी इलाके में मौजूद प्रतिष्ठित जहांगीर अस्पताल में भर्ती महिला मरीज को परोसे गए सूप में खून से सनी पट्टी मिलने का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला के पति ने मामले की शिकायत पुलिस से की है। वहीं, दूसरी तरफ हॉस्पिटल प्रशासन का कहना है कि कुछ कर्मचारी हड़ताल पर हैं। उन्होंने जानबूझकर यह काम किया है ताकि अस्पताल को बदनाम किया जा सके। फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

खबर के मुताबिक, महेश सतपुते नाम के व्यक्ति ने अपनी गर्भवती पत्नी को डिलीवरी के लिए हॉस्पिटल में एडमिट कराया था। उसी दिन उसने एक बच्ची को जन्म दिया। रविवार को उसे सूप का एक कटोरा दिया गया। जिसमे खून लगी हुई रूई की पट्टी थी। इस मामले में विवाद बढ़ने पर अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि कुछ कर्मचारियों द्वारा की गई लापरवाही है, जो वर्तमान में हड़ताल पर है।

सतपुते ने रविवार को ही शिवजीनगर पुलिस स्टेशन में हॉस्पिटल के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करवाई। सबूत के रूप में उन्होंने पुलिस को एक वीडियो भी सौंपा है। मामले की जांच कर रहे पुलिस इंस्पेक्टर मदन बहादुरपुरे ने कहा, ‘जहांगीर अस्पताल में महिला को दिए गए सूप में रूई के फाहे मिलने की शिकायत है और इस मामले में पूछताछ चल रही है।’

अस्पताल ने बताया 300 कर्मचारी पिछले एक सप्ताह से हड़ताल पर हैं और अस्पताल को बदनाम करने के लिए ये उन्ही की शरारत हो सकती है। ऐसे में सवाल उठता है कि हड़ताल पर गए कर्मचारी इस तरह से अस्पताल में घुसपैठ कैसे कर सकते हैं? कहीं ना कहीं ये अस्पताल की लापरवाही का मामला दिख रह है। जिसे अस्पताल छिपाने की कोशिश कर रहा है।

बलात्कार के आरोप में फंसे टीवी के सितारे, करियर ऐसे हुआ खत्म

Previous article

पुणे: अपनी ही गर्भवती बेटी और दामाद को ज़िंदा जलाया, दोहराई गई फिल्म सैराट की कहानी

Next article

You may also like

More in Crime

Comments

Comments are closed.