क्या कांग्रेस और बच्चन के बीच ख़त्म हो गयी है सारी दूरियां ? अब तक प्रधानमंत्री के खासे कहे जाते थे

फिल्मी दुनिया से आम लोगों के बीच अपना एक मुकाम बनाने वाले सदी के नायक अमिताभ बच्चन एक बार राजनीति में आ सकते हैं. यह अटकल लगाई जा रही है. बता दें कि बॉलीवुड में जब में शीर्ष पर थे तब उन्होंने कांग्रेस के लिए प्रचार ही नहीं किया था बल्कि इलाहाबाद से चुनाव लड़कर सांसद भी बने थे. उन्होंने इलाहाबाद में हेमवती नंदन बहुगुणा को हराया था जिन्हें हराना लगभग असंभव माना जाता था. उसके बाद कांग्रेस से उनकी दूरियां इतनी बढ़ीं की अमिताभ बच्चन राजनीति करने दोबारा सीधे तौर पर नहीं आए लेकिन उनका परिवार समाजवादी पार्टी के लिए समर्पित दिखाई दिया. पूरा परिवार कई बार पार्टी के कार्यक्रमों दिखाई दिया और बाद में जया बच्चन पार्टी की सांसद भी बनीं.

लेकिन अब अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं को फॉलो करना शुरू किया है, जिसके चलते दल में उनकी अचानक जागी दिलचस्पी को लेकर कई तरह की अटकलें लगने लगी हैं.

पहले उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के आधिकारिक ट्विटर आकउंट को फॉलो किया, फिर पी चिदंबरम, कपिल सिब्बल, अहमद पटेल, अशोक गहलोत, अजय माकन, ज्योतिरादित्य सिंधिया, सचिन पायलट और सीपी जोशी को इस महीने से फॉलो करना शुरू किया. हाल में उन्होंने मनीष तिवारी, शकील अहमद, संजय निरूपम, रणदीप सुरजेवाला, प्रियंका चतुर्वेदी और संजय झा को भी ट्विटर पर फॉलो करना शुरू किया. कांग्रेस और विपक्ष के कुछ नेताओं के प्रति अचानक जगे उनके इस प्रेम से खुद पार्टी भी हैरत में है.

Amitabh Bacchan with Gandhi Family:

PD:DM/November, 1984, M32GI/M32Gr
The Mortal remains the late Prime Minister, Smt. Indira Gandhi were consigned to flames with the full Vedic retire of Shantivana, New Delhi on November 3, 1984.
View of the VIP at the funeral.


Close Bitnami banner
Bitnami