Social Per Hit

कटरीना तीसरी बार बनी माँ, जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ

0

बाघिन कैटरीना एक बार फिर मां बनी है. नागपुर के बोर अभ्यारण्य में रहने वाली बाघिन कैटरीना महज ढाई साल में तीसरी बार मां बनी है. इसके साथ ही इस बाघिन ने पशु वैज्ञानिकों की उस धारणा को बदल दिया है कि एक बाघिन दो साल में एक बार ही मां बनती है. वहीं कैटरीना 14-14 महीने के अंतराल पर तीन बार मां बनी है. इस बात से अभ्यारण्य के लोग काफी खुश हैं. कैटरीना पिछले रविवार को तीसरी बार बच्चे को जन्म दी थी. यह बाघिन फिलहाल छह साल की है और उम्मीद की जा रही है कि करीब इतने ही समय और जीवित रहेगी. बोर अभ्यारण्य के कर्मचारियों का कहना है कि बाघिन कैटरीना पिछले शनिवार यानी 3 जून को मां बनी थी. शावक पूरी तरह स्वस्थ्य है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक इन दिनों अभ्यारण्य में शावक को देखने के लिए भारी संख्या में लोग जुट रहे हैं. बोर सबसे छोटा बाघ अभ्यारण्य है. यह नागपुर से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. 

अभ्यारण्य का कहना है कि कैटरीना पहली बार 2014 में मां बनी थी. उस समय उसने 4 शावकों को जन्म दिया था, जिसमें 2 मेल और दो फीमेल थे. दूसरी बार कटरीना ने साल 2016 में 3 शावकों को जन्म दिया था. अब तीसरी बार कैटरीना मां बनी है. 

दूसरी बार जन्मे शावकों में से एक को जंगली कुत्ते ने शिकार बना लिया था. नर शावक युवराज और मादा पिंकी आज भी पर्यटकों को आकर्षित कर रही है.

अभ्यारण्य के कर्मचारी उम्मीद कर रहे हैं कि अगर सबकुछ ठीक रहा तो कैटरीना अगले छह साल में 20 शावकों को जन्म देगी. मालूम हो कि अब तक सबसे ज्यादा शावक जन्म देने का रिकॉर्ड पेंच की कॉलरवाली बाघिन के नाम है. वह सात बार मां बनी थी और 26 26 शावकों को जन्म दिया था. 

पिछले साल अप्रैल के आंकड़ों पर नजर डालें तो भारत में करीब 2226 बाघ हैं. यह संख्या विलुप्तप्राय बाघ प्रजाति की 70 फीसदी वैश्विक आबादी का प्रतिनिधित्व करता है. पिछले दो साल में संख्या बढ़ी है और हमारा कच्चा आकलन है कि अभी भारत में करीब 4,500 बाघ हैं

जब देखते ही देखते हिरन को ज़िंदा निगल गया अजगर

Previous article

अब बंदोबस्त में लगे जवानों के लिए `मील्स ऑन व्हील्स`

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami