ऑपरेशन थिएटर में पड़ी मरीज़ और गुंडों की तरह लड़ते रहे डॉक्टर

डॉक्टरी पेशे को शर्मसार करने वाला वीडियो सामने आया है. वीडियो में डॉक्टर मरीज़ को छोड़कर गुंडों की तरह लड़ते दिखाई दे रहे हैं। भाषा भी ऐसी की कोई सुनकर अचंभित हो जाए। इन दोनों डॉक्टरों की लड़ाई में ऑपरेशन बीएड पर लेती प्रेग्नेंट लेडी की सिजेरियन डिलिवरी में देरी हुई और उसे इसकी कीमत अपनी नवजात बच्ची की जान गंवा कर चुकानी पड़ी. बच्ची की पैदा होते ही मौत हो गयी. मामला राजस्थान के उम्मेद हॉस्पिटल का है। और वीडियो में लड़ाई कर रहे डॉक्टर हैं Dr Ashok Nenival और Dr ML Tak. अब इस वीडियो के सामने आने के बाद दोनों से स्पष्टीकरण माँगा गया है।

जानकरी के मुताबिक़,जोधपुर के रातानाडा की रहने वाली अनीता मंगलवार सुबह डिलीवरी के लिए उम्मेद हॉस्पिटल आईं। उन्हें पहले लेबर रूम ले जाया गया, जहां डॉ. इंद्रा भाटी ने उन्हें चेक किया तो पेट में बच्चे की धड़कन धीमी पाई। डॉक्टरों ने तुरंत सिजेरियन डिलिवरी के लिए ऑपरेशन थिएटर (OT) में भेजा गया।डॉक्टरों ने बताया की गर्भवती और बच्चे की जान बचाने के लिए तुरंत ऑपरेशन करना जरूरी था। ऑपरेशन थियेटर में एक टेबल पर गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. अशोक नैनीवाल एक दूसरी महिला का ऑपरेशन कर रहे थे। तभी एनेस्थिसिस्ट और ओटी इंचार्ज डॉ. एमएल टाक बच्चे की धड़कन जांचने के लिए दूसरे डॉक्टर से कह रहे थे। इसी दौरान डॉ. अशोक भड़क गए और डॉ. टाक पर जोर-जोर से चिल्लाने लगे।

बात इतनी बढ़ गयी की दोनों ने पहले आपस में बहस शुरू कर दी और फिर  डॉ. टाक मरीज़ को छोड़कर डॉ. अशोक के सामने आ गए। थिएटर में मौजूद दूसरे सहयोगियों ने दोनों डॉक्टर्स को समझाने की बहुत कोशिश कीलेकिन वो नहीं माने। बाद में अनिता के सिजेरियन से हुई नवजात बच्ची ने कुछ ही देर में दम तोड़ दिया।

अब इस वीडियो के सामने आने के बाद उमेद अस्पताल की अधीक्षक ने इस पूरी घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बतया है। और दोनों डॉक्टरों से जवाब तालाब कर उन पर कार्रवाही की अनुशंसा कर दी है। 


Close Bitnami banner
Bitnami