सुनिए क्यों भक्तों के गोद में चढ़कर नाचती है राधे माँ

हमेशा किसी ना किसी बात को लेकर सुर्ख़ियों में रहने वाली राधे माँ। एक बार फिर सुर्ख़ियों में है। इस बार उनके सुर्ख़ियों में रहने की वजह है उत्तर प्रदेश के संभल के आयोजित एक कार्यक्रम में राधे माँ का डांस। हालांकि राधे माँ का नाचना ये कोई नयी बात नहीं है। इसके पहले भी कई बार राधे माँ को अपने भगतों के गोद में चढ़कर नाचते हुए देखा होगा। उत्तर प्रदेश के संभल में आयोजित कल्की उत्सव में राधे माँ का एक बार फिर वही रूप देखने को मिला है। जो अबतक देखते आये है। उत्तर प्रदेश राजधानी लखनऊ के संभल में आयोजित कल्की उत्सव में राधे माँ भगती के गानों में थिरकते हुए दिखी। जिसमे उनके भक्त हार फूल के अलावा जमकर नोटों की बारिश की। उसके एवज में राधे माँ नाचते ही नाचते अपने भगतों को देवी के रूप में आर्शीवाद भी देती नज़र आयी। हाल ही राधे माँ ने अपने ऑफिसियल फेसबुक पेज पर एक वीडियो पोस्ट किया है। उस वीडियो में राधे माँ ये कहते नज़र आ रही है की आखिर उन्हें उनके भक्त क्यों गोद में उठाते है.और उन्हें इसका बुरा भी नहीं लगता है।

राधे मां भक्तों द्वारा गोद में उठा कर डांस करने को गलत नहीं मानती हैं। दो दिन पहले उन्होंने एक वीडियो अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने बताया है कि आखिर क्यों उनके चाहने वाले उन्हें गोद में उठाते हैं। अपने ऑफिसियल फेसबुक पेज पर पोस्ट एक वीडियो में राधे मां ने कहा, “यह जो बच्चे हैं। उन्होंने मुझे बहुत प्यार से पाला है। जब बहुत ज्यादा भीड़ हो जाती है तो मेरे भक्त और मेरा बेटा मुझे गोद में उठा लेता है, ताकि मुझे चोट न लगे। मैं बहुत अच्छी हूं, मैंने बच्चों को मना कर दिया है कि चाहे मुझे चक्कर भी आ जाए, चोट भी लग जाए। लेकिन वे मुझे गोद में न उठाएं।”

आगे उन्होंने कहा, “मुझे कोई कंट्रोवर्सी नहीं करनी है। मैं धीरे-धीरे आराम से चला करूंगी। मैं जो पब्लिक को अच्छा नहीं लगे, मीडिया को अच्छा नहीं, कानून को अच्छा नहीं लगे वह नहीं करूंगी। मैं बड़ी तो हो गई हूं लेकिन मेरा नेचर आज भी बच्चों जैसा है।”

 


Close Bitnami banner
Bitnami