0

आतंकियों के खिलाफ जारी लड़ाई में लगातार सुरक्षा एजेंसियों के द्वारा कार्रवाई की जा रही है. हाल ही में अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना द्वारा ज्वाइंट ऑपरेशन में मारे गए मौलाना असीम उमर का कनेक्शन उत्तर प्रदेश से निकला था, जिसके बाद से लगातार सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय है. देवबंद में UP-ATS ने शुक्रवार को दबिश दी तो वहीं पुलिस ने लखीमपुर से 4 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है.

देवबंद हुई आज की कार्रवाई को असीम उमर के मारे जाने के बाद की गतिविधियों से जोड़ा जा रहा है. हालांकि कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. वहीं, लखीमपुर ज़िले से गिरफ्तार किए गए चार संदिग्धों से पूछताछ जारी है. सूत्रों की मानें तो प्रारम्भिक जांच से इन आतंकियों का भी बड़ा नेटवर्क का पता चला है.

अफगानिस्तान मे अमेरिकी सेना द्वारा मारे गए मौलाना असीम उमर का कनेक्शन यूपी के संभल से निकला था. बताया जा रहा है कि उमर 1998 से लापता था. उमर के घरवालों के बताया था कि उमर 1993 में देवबंद में पढ़ने गया था, जिसके बाद से उमर को लेकर लगातार देवबंद में सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय है.

इस मामले से जुड़ा एक पुराना रिकॉर्ड भी सामने आया है. दरअसल, स्पेशल सेल ने मो. आसिफ नाम के एक आतंकी को दिसम्बर 2015 मे गिरफ्तार किया था. साल 2016 में दिल्ली कोर्ट में दाखिल चार्ज शीट में स्पेशल सेल ने 17 लोगों का जिक्र किया था, जिसमे संभल से असीम उमर के अलावा 5 और लोगों का जिक्र था. पुलिस के मुताबिक, इन 17 लोगों के अलकायदा जैसे आतंकी संगठन से सीधे तार जुड़े हुए हैं.

पति के सोते ही देवर के साथ हम बिस्तर हुई पत्नी, गुस्साए पति ने उठाया खौफनाक कदम

Previous article

ईरान के तेल टैंकर में धमाका, सरकारी मीडिया का दावा- मिसाइलों से किया गया हमला

Next article

You may also like

More in Crime

Comments

Comments are closed.