BusinessNationNationalNewsTop StoriesTrending News

Covid -19 Impact : देश में लॉकडाउन और पाबंदियों से अप्रैल में 75 लाख से ज़्यादा लोगों ने गंवाई नौकरियां

0

देश में Covid -19 महामारी की दूसरी लहर और उसकी रोकथाम के लिए लगाए गए ‘लॉकडाउन’ और अन्य पाबंदियों से 75 लाख से अधिक लोगों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है. इससे बेरोजगारी दर चार महीने के उच्च स्तर 8 प्रतिशत पर पहुंच गई है. सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन एकोनॉमी ( Centre for Monitoring Indian Economy -CMIE)  ने यह जानकारी दी है.

सीएमआईई के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) महेश व्यास (Managing Director and Chief Executive, Mahesh Vyas) ने कहा कि आने वाले समय में भी रोजगार के मोर्चे पर स्थिति चुनौतीपूर्ण बने रहने की आशंका है. उन्होंने कहा, ‘मार्च की तुलना में अप्रैल महीने में हमने 75 लाख नौकरियां गंवाई. इसके कारण बेरोजगारी दर बढ़ी है.’

केंद्र सरकार के आंकड़े के अनुसार राष्ट्रीय बेरोजगारी दर (National Unemployment rate) 7.97 प्रतिशत पहुंच गई है. शहरी क्षेत्रों में 9.78 प्रतिशत, जबकि ग्रामीण स्तर पर बेरोजगारी दर 7.13 प्रतिशत है. इससे पहले, मार्च में राष्ट्रीय बेरोजगारी दर 6.50 प्रतिशत थी और ग्रामीण तथा शहरी दोनों जगह यह दर अपेक्षाकृत कम थी.

Covid-19 महामारी बढ़ने के साथ कई राज्यों ने ‘लॉकडाउन’ समेत अन्य पाबंदियां लगाई हैं. इससे आर्थिक गतिविधियों पर प्रतिकूल असर पड़ा और फलस्वरूप नौकरियां प्रभावित हुई हैं. व्यास ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि कोविड-महामारी कब चरम पर पहुंचेगी, लेकिन रोजगार के मार्चे पर दबाव जरूर देखा जा सकता है.’ हालांकि, उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति उतनी बदतर नहीं है जितनी की पहले ‘लॉकडाउन’ में देखी गई थी. उस समय बेरोजगारी दर 24 प्रतिशत तक पहुंच गई थी.

आज तीसरी बार लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी ममता बनर्जी , सौरव गांगुली सहित इन चेहरों को किया गया आमंत्रित

Previous article

उत्तर भारत में ब्रिटिश वेरिएंट का क़हर , महाराष्ट्र सहित गुजरात और कर्नाटक में ‘डबल म्यूटेंट’ ने मचाई तबाही

Next article

Comments

Comments are closed.

Close Bitnami banner
Bitnami