शाॅर्ट्स और स्लीपर पहनकर रेस्त्रां में जाने वाले पत्रकार और इंजीनियरों को रोका, पत्रकार ने शिकायत दर्ज कराई

पुणे से एक हैरान करने वाली खबर आई है. शहर के एक नाम होटल ने कुछ लोगों को अनादर आने से इसलिए रोक दिया क्यूंकि उन लोगों ने शार्ट्स और स्लीपर पहन रखे थे. होटल कर्मचारियों ने उन्हें ये कहते हुए अंदर आने से रोका की होटल बड़े लोगों के लिए है और कोई भी अंदर नहीं आ सकता. वहां गए लड़कों ने ये यक़ीन दिलाने की कोशिश की वो बिल भरने की क्षमता रखते हैं. फिर भी होटल कर्मचारियों ने उन्हें अंदर नहीं आने दिया. जिसके बाद इन लड़को ने होटल प्रबंधन के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है.

क्या उस रात ?

जानकारी के मुताबिक, 10 जुलाई की रात असीम त्रिभुवन, संजय होस्मानी, प्रदीप शालिनी, डॉ. अजित वाडेकर, विराज मुनोत और विलास कोंढालकर खाना खाने के लिए पुणे के सेनापती बापट मार्ग पर आईसीसी टॉवर मे “एजेंट जैक’ रेस्तरां में गए थे. सभी दोस्त है लेकिन उस रात कुछ लड़कों ने स्लीपर और शॉर्ट्स पहनी थी. जब वो गेट पर गए तो जिन लोगों ने पूरा कपडा पहन रखा था उन्हें अंदर जाने दिया गया. मगर जिन्होंने शॉर्ट्स और स्लीपर पहना था गार्ड्स ने उन्हें रोक दिया. जब उन लोगों ने वजह पूछी तो बताया गया की अगर आधे अधूरे कपडे वाले ऐसे लोग उनके होटल में आएंगे तो उनकी छवि ख़राब होगी. लड़कों ने बहुत समझाया लेकिन सुरक्षा कर्मी और होटल प्रबंधन नहीं माना. होटल के इस हरकत के खिलाफ युवकों ने होटल प्रबंधन के इस बर्ताव पर नाराज होते हुए पुलिस मे शिकायत कर दी. शिकायत दर्ज करने वाले युवक असीम त्रिभुवन ने कहा, होटल प्रबंधन इस प्रकार के नियम बनाकर हमारे मौलिक अधिकारों को नहीं छीन सकता. इसलिए हमने रिपोर्ट दर्ज कराई.


Close Bitnami banner
Bitnami