Maharashtra/GoaTop Stories

Video:सामने आया औरंगाबाद पुलिस का अलग चेहरा,लोगों ने नहीं पुलिस ने फैलाई थी हिंसा,सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा

0

महाराष्ट्र का औरंगाबाद जिला पिछले दो दिनों जल रहा है। आरोप था कि वहां लोगों ने हिंसा कि और पुलिस पर जमकर पथराव किया था। लोग इतने हिंसक हो गए थे कि कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। लेकिन अब जो वीडियो सामने आया है वो औरंगाबाद पुलिस के दावों की पोल खोलता है। वीडियो में दर्जनों की संख्या में पुलिस वाले बंद पड़े घर में पथराव कर रहे हैं। शीशे तोड़ रहे हैं गलियों में घुस घुसकर दहशत फैला रहे हैं। लोगों का ये तक आरोप है कि पुलिस वालों ने घरों में घुस घुसकर महिलाओं और बच्चों तक की पिटाई की है।

औरंगाबाद हिंसा में एक की मौत कई घायल, हिंसा रोकने के लिए शहर में अतरिक्त सुरक्षा बुलाई गई

अब इस वीडियो के सामने आने के बाद औरनागाबाद पुलिस बुरी तरह घिरती दिखाई दे रही है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि करीब सैकड़ों कि संख्या में पुलिस वाले औरंगाबाद के मिटमिटा गांव में घुसते है। जिसमे महिला पुलिसकर्मी भी है। सभी पुलिसवाले गालियों में घूमते फिरते हैं और फिर यहाँ वहां देखते है। जब उन्हें कोई दिखाई नहीं देता है तो पुलिस वाले लोगों के घरों में पत्थर फेंकने लगते है। कई पुलिसवालों ने गाड़ियों तक के शीशे फोड़ दिए।

 

स्थानीय लोगों का कहना है कि कल जो कुछ भी औरंगाबाद में हुआ उसके लिए सिर्फ और सिर्फ पुलिस प्रशासन ही जिम्मेदार है, पुलिस ने ही लोगों को हिंसक रूप धारण करने के लिए उकसाया है। लोगों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा की हम कचरा डंपिंग को लेकर विरोध न करे इसके लिए पुलिस लोगों में अपना खौफ पैदा करने के हमारे घरों में पथराव किया था हमारे घर और गाडी के सीसे तोड़ दिए और महिलाओं और बच्चों को जमकर पीटा गया है।

बता दे कि कचरा डंपिंग को लेकर पुलिस और वहां के नागरिकों के बीच कल जमकर हिंसक झड़प और पथराव हुआ था। जिसमे एक शख्स की मौत हो गई. जबकि कई लोग पथराव में घायल हो गए थे। वही गुस्साए लोगों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था।

Rahul Pandey

दुबई में बैठकर ISI के ऑपरेशन को अंजाम तक पहुंचा रहा था फ़ारूक़ टकला

Previous article

एक्ट्रेस की बहादुरी के बाद पकडे गए International Human Trafficking गिरोह के कई लोग

Next article

Comments

Comments are closed.

Login/Sign up
Bitnami