Video: सोशल मीडिया पर सेलिब्रिटी बनी कुतिया, लोग पूछ रहे हैं आखिर क्यों एक ट्रेन के पीछे दौड़ती है?

 

आज कल सोशल मीडिया एक कुतिया सेलेब्रिटी बानी हुई है. हर कोई उसी की बात कर रहा है, कोई उसे गोद लेना चाहता है तो कोई उसकी मदद करना चाहता है. लोग उसकी पूरी कहानी जानना चाहते हैं. अब आप भी सोंच रहे हैं होंगे की आखिर एक मामूली कुतिया सेलब्रिटी कैसे बन गयी और उसे लेकर सोशल मीडिया पर इतना कौतहूल क्या मचा हुआ है. दरअसल किसी ने इस कुतिया का कई वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए लिखा था की, पता नहीं क्यों ये कुतिया हर रात कंजुरमार्ग स्टेशन पर आने वाली एक लोकल ट्रेन का पीछा करती है? जब जब ट्रेन आती है वो उसके साथ दौड़ने लगती है और फिर ट्रेन के लेडीज कोच के सामने जाकर रूक जाती है. फिर बड़े गौर से लेडीज डब्बे के सामने रुककर उसमें लोगों को उतरते हुए देखती हैं. इस कुतिया की हरकत को देखकर ऐसा लगता है वो किसी की तलाश में है. उसकी इस तलाश और लेडीज डब्बे के बीच कुछ तो है.

क्या है पूरी कहानी ?

ऐसा नहीं है की इस वीडियो शूट करने वाले ने ही कुतिया को ऐसा करते देखा है. बल्कि कांजुर मार्ग स्टेशन पर तैनात रेलवे कर्मियों ने भी यही कहानी सुनाई है. वसो बताते हैं हैं कि, कुतिया कि ये हरकत स्टेशन के सीसीटीवी में भी कैद है। वीडियो में दिखाई देता है कि कुतिया हर रात ठीक 11 बजे के बाद कल्याण की तरफ से आने वाली ट्रेन का प्लेटफार्म नंबर 1 पर इंतजार करती है. जैसे ही उसकी नज़र आती हुई ट्रेन पर पड़ती है वो भाग कर प्लैटफॉर्म पर आ जाती है. फिर वो दौड़कर लेडीज कोच के सामने जाती है जहां वो लोगों को चुपचाप उतरते हुए देखती है। जैसे ही लोग उतर जाते हैं और महिला डब्बा खाली हो जाता है वो कोच के अंदर झांकती है,मानो वो किसी कि तलाश में है. जैसे ही ट्रेन निकलने लगती वो उसके पीछे दौड़ती है तबतक जबतक कि ट्रेन स्टेशन से बाहर न चली जाए.

लोगों ने शुरू कि मुहीम !

अब इस वीडियो के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर मुहीम शुरू कर दी है. लोग सरकार और रेलवे मंत्री लोगों ने रेलमंत्री पीयूष गोयल से भी अपील कि है कि वो मदद करें. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, कुतिया 2 जनवरी से हर रात ऐसे ही कांजुर मार्ग स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर ट्रेन का पीछा कर रही है. जब लोगों को इस कुतिया कि कहानी पता चली तो उन्होंने उसकी और जानकारी जुटाने कि कोशिश की, पता चला कुतिया के 4 बच्चे भी हैं. जो वहीँ स्टेशन के पीछे रहते हैं.

 


Close Bitnami banner
Bitnami