तेज़ बहाव में कई घंटे तक फँसी पांच ज़िंदगियाँ, ग्रामीणों ने मुश्किल से बचाई जान

मुंबई से सटे पनवेल में पांच लोगों कि ज़िन्दगी तब बन आई जब तेज़ बहाव में अनियंत्रित होकर उनकी कार पूल के बीचों बीच जा फँसी. घटना नवी मुंबई के पनवेल इलाके का है. दोपहर को अशरफ खलील शेख अपनी कार से पूरे परिवार के साथ जा रहे थे. इस बीच पनवेल के वावंजे होते हुए जब वो अपनी शेव्हरलेट कार से घोटगाव नदी के ऊपर बने पल पर टार्न कर रहे थे तभी उनकी गाडी अनियंत्रित होकर नीचे नदी में जा गिरी. उस समय उनकी कार में उनके इलावा उनकी पत्नी और दो बेटियां भी थीं. लेकिन उनकी किस्मत अच्छी रही कि नदी में तेज़ बहाव के कारण उनकी कार काफी दूर तक बही ज़रूर लेकिन एक गाँव के पास जाकर पत्थरों के बीच फँस गयी.

इसके बाद अशरफ ने किसी तरह परिवार के लोगों को कार के अंदर से निकलकर छत पर बिठाया और घंटो मदद के लिए इंतज़ार करते रहे. इसी बीच गाँव के लोगों कि नज़र उनपर पड़ी और फिर ग्रामीण नारायण गंगाराम पाटील, लहू नारायण पाटील, लक्षमन वामन धुमाळ उर्फ बाळा, तुळशीराम बळीराम निघुकर और रुपेश रामा पाटील ने अपनी जान पर खेलकर सभी लोगों को बचाया. ये सभी लोग पास के ही करोळेगाव के रहने वाले हैं.

ग्रामीणों के मुताबिक तेज़ बहाव कि वजह से लगातार कार अपनी जगह छोड़ था और उन्हें डर था कि एक बार कार फिसल गयी तो लोगों कि ज़िन्दगी बचाना मुश्किल हो जाएगा. इसके बाद ग्रामीणों ने बड़े रस्सियों को किनारे पर बाँधा फिर कार में फंसे लोगों तक पहुंचे. फिर उन्हें एक एक कर बाहर निकला गया. इस पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन में करीब पांच घंटे का वक़्त लग गया. वहीँ किनारे पर खड़े कुछ लोगों ने इस poori घटना को अपने मोबाइल में क़ैद किया है जो अब वायरल हो रहा है.


Close Bitnami banner
Bitnami