एक हादसे में बाल बाल बचे उज्जवल निकम

तंकी अजमल आमिर कसाब को फांसी दिलवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अधिवक्ता उज्ज्वल निकम सोमवार रात एक सड़क दुर्घटना में बाल-बाल बच गए। उनकी कार को पीछे से पुलिस के एक वाहन ने खंडाला घाट इलाके में पुणे – मुंबई एक्सप्रेसवे पर टक्कर मार दी। इस दुर्घटना में दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

ऐसे हुई दुर्घटना

– हालांकि, पुलिस के गश्ती वाहन में सवार दो पुलिसकर्मियों को हल्की चोटें आई। यह घटना रात आठ बजे हुई। निकम मुंबई आ रहे थे।
– रायगढ़ के एक पुलिस अधिकारी के अनुसार पुलिस के गश्ती वाहन ने निकम की कार को पीछे से टक्कर मार दी। यह घटना तब हुई जब निकम के कार के चालक ने वाहन की गति को घाट की तरफ हुए एक अन्य दुर्घटना को देखते हुए कर दी थी। इस घटना में दो पुलिसकर्मियों को हल्की चोटें आई।
– अधिकारी ने बताया, “निकम सुरक्षित बच गए। घायल पुलिस कर्मियों को अस्पताल ले जाया गया जबकि निकम मुंबई रवाना हो गए।

कौन हैं उज्जवल निकम?

– निकम विशेष सरकारी वकील हैं। उन्होंने कई बड़े आतंकवादी मामलों को अपने हाथों में लिया है। निकम 1993 में हुए मुंबई सीरियल बम ब्लास्ट का केस लड़ चुके हैं।
– इसके अलावा वे गुलशन कुमार मर्डर केस, प्रमोद महाजन मर्डर केस, गेटवे ऑफ इंडिया ब्लास्ट, 26/11 हमले जैसे महत्वपूर्ण केस लड़ चुके हैं।
– यूनाइटेड नेशन कांफ्रेंस में निकम आतंकवाद के मुद्दे पर भारत की ओर से शामिल हो चुके हैं।
– कसाब के मामले में सुनवाई के दौरान निकम को ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा सरकार की ओर से मिली थी।

– महाराष्ट्र के जलगांव शहर के एक मराठा परिवार में उज्जवल निकम का जन्म हुआ था।
– यहीं से उन्होंने लॉ की डिग्री हासिल की। वे कई वर्षों तक डिस्ट्रिक्ट गवर्नमेंट के वकील रहे।
– निकम के पिता बैरिस्टर देव रावजी निकम महाराष्ट्र के फेमस जज थे।
– निकम को पुणे के डी.वाई पाटिल यूनिवर्सिटी से डाक्टरेट की उपाधि मिली है।


Close Bitnami banner
Bitnami