HDFC बैंक नें ग़रीबों के लिए बिछाया किलें: कहा ग़रीबों को उनके फुटपाथ पर सोनें का हक़ नहीं

क्या अब मुंबई भी अमीरी और ग़रीबी में फ़र्क़ करनें लगा है ? ये सवाल इसलिए क्यों की जो काम देश के नामी बैंक ने किया है वो किसी तालिबानी हरकत से कम नहीं है। इन दिनों सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें खुब शेयर की जा रही थीं। तस्वीरों में कुछ लोग फुटपाथ पर किलें बिछाते हुए दिख रहे हैं।

लेकिन आप भी अगर इन तस्वीरें की सच्चाई सुनेंगे तो शायद यकिन ना करें। ये क़िलें लगाती हुई तस्वीर मुंबई के एचडीएफसी बैंक के बाहर की है। और एचडीएफसी बैंक के बाहर लोहे की कीलें बिछाई इसलिए बिछाई जा रही हैं ताकि वहां बेघर गरीबों को सोने से रोका जा सके। 

सबसे पहले से मामला सोशल मीडिया पर एक शख़्स
नें ट्वीटर पर पोस्ट किया था। लिखा तो ये तस्वीरें देखिए मुंबई के फोर्ट एरिया में स्थित एचडीएफसी बैंक की है ‘ बैंक मुंबई के बेघर लोगों की तरफ एचडीएफसी का रवैया.’

अब इन तस्वीरों के सामनें आनें के बाद लोग सोशल मीडिया पर सवाल पुछ रहे है कि, ये एचडीएफ़सी बैंक को दोहरा रवैया अमीरों के लिए रेड कार्पेट और ग़रीबों के लिए किलें। अब तक मुंबई के लिए कहा जाता था की ये शहर सबका है लेकिन बैंक के इस हरकत नें पुरी मुंबई की शाख़ पर बट्टा लगा दिया है।

एचडीएफसी बैंक ने मांगी माफी
मामले को बढ़ता देख एचडीएफसी बैंक ने अब माफी मांग ली है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक एचडीएफसी बैक ने कहा है कि लोहे की कीलें बिछाने के बाद लोगों को हुई असुविधा के लिए हमे खेद है। हम जल्द से जल्द इन कीलों को हटाएंगे।


Close Bitnami banner
Bitnami