लोकल ट्रेन से सफर करने वाले इस खिलाड़ी को टीम इंडिया ने दी है अपने टेस्ट टीम में जगह

भारतीय क्रिकेट टीम में सभी खिलाडियों की हाई प्रोफाइल लाइफ स्टाइल के बारे में आप सब जानते ही होंगे. लेकिन भारतीय टीम के तेज़ गेंदबाज़ शार्दुल ठाकुर ने कुछ ऐसा कर दिया है की सब हैरत में है. दक्षिण अफ्रीका में शानदार प्रदर्शन करने वाले क्रिकेटर शार्दुल ठाकुर की कुछ फोटोज सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं। जिसमें वे लोकल ट्रेन में सफर करते हुए नजर आ रहे हैं। बता दें कि क्रिकेटर शार्दुल ठाकुर इस हफ्ते की शुरुआत में एमिरेट्स फ्लाइट से वापस भारत लौटे। मुंबई पहुंचने के बाद वे प्राइवेट कार से घर जाने के बजाय शार्दुल सीधे अंधेरी रेलवे स्टेशन पर गए और वहां से पालघर ट्रेन से गए.

साउथ अफ्रीका में चमका यह क्रिकेटर, मुंबई लौटने पर लोकल ट्रेन में पहुंचा घर

लोकर ट्रेन में सफर को लेकर बातचीत के दौरान 28 वर्षीय क्रिकेटर ने कहा “साथी यात्रियों को अच्छा लगता है कि उनके साथ सफर करने वाला लड़का भारत के लिए खेलता है। साउथ अफ्रीका से फ्लाइट की बिजनेस क्लास से सीधा ट्रेन की फर्स्ट क्लास में सफर कर रहा हूं और बस अब जल्दी से घर पहुंचना चाहता हूं। शार्दुल ने आगे बताया, “जो लोग मुझे ट्रेन में देख रहे थे वे सोच रहे थे कि क्या मैं सच में शार्दुल ठाकुर हूं या नहीं। कुछ कॉलेज के बच्चों ने मेरी फोटो गूगल पर सर्च की और निश्चिंत होने के बाद उन्होंने मुझसे सेल्फी के लिए पूछा। मैंने उनसे कहा कि पालघर पहुंचने दें फिर सेल्फी लेते हैं।”

साउथ अफ्रीका में चमका यह क्रिकेटर, मुंबई लौटने पर लोकल ट्रेन में पहुंचा घर

साउथ अफ्रीका में चमका यह क्रिकेटर, मुंबई लौटने पर लोकल ट्रेन में पहुंचा घर

शार्दुल को देखकर सभी यात्री थे हैरान

आगे शार्दुल ने कहा कि “मुझे ट्रेन में देखकर ट्रेन के कम्पार्टमेंट में सफर कर रहे कई लोग आश्चर्यचकित थे कि भारतीय क्रिकेटर उनके साथ सफर कर रहा है। मुझे अपने पुराने दिन याद आ रहे थे जब मैं ट्रेन में सफर करता था लेकिन मैं आज भी जमीन से जुड़ा हुआ हूं। मुझे जो कुछ भी मिला है वो मेरी कड़े म्हणत का नतीजा है। शार्दुल ने कहा “मैं जब ट्रेन में सफर करता था तो लोग अक्सर मुझसे पूछते थे कि मैं कब मुंबई और भारत के लिए खेलूंगा। कुछ लोग ताने भी मारते थे कि इतनी दूर से आकर थोड़ी कोई इंडिया के लिए खेलेगा इसलिए टाइम पास करना बंद दो। मैं उनकी बात सुनता था लेकिन मैं जानता था कि मुझे क्या करना है। मैंने अपनी जिंदगी क्रिकेट को समर्पित कर दी है।”

 


Close Bitnami banner
Bitnami